2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी से लेकर दिल्ली में अभी हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में केजरीवाल को जीत दिलवाने वाले मशहूर राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बड़ा दावा किया है. दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी लेकिन वो मेहनत केजरीवाल की नीतियों पर काम नहीं कर सकी और आम आदमी पार्टी ने प्रचंड बहुमत के साथ अपनी सरकार बनाई.

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली चुनाव में CAA और NRC को भी प्रमुख मुद्दा बनाया गया था. केंद्र सरकार द्वारा नागरिकता संसोधन अधिनियम को लेकर लाये गये बिल का विपक्षी दलों ने जमकर विरोध किया. बीजेपी लगातार आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को दिल्ली में हो रहे प्रदर्शन का जिम्मेदार ठहराती रही. अब दिल्ली में केजरीवाल को जीत दिलवाने वाले प्रशांत किशोर ने CAA और NRC को लेकर केजरीवाल की पोल खोल दी है.

प्रशांत किशोर ने दावा करते हुए कहा है कि आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नागरिकता कानून CAA के खिलाफ हैं. इसी के साथ आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर NRC के भी खिलाफ है. प्रशांत किशोर ने अभी हाल ही में एक प्रेस कांफ्रेंस करते हुए इस बात का दावा किया है.

गौरतलब है कि प्रशांत किशोर ने इस प्रेस कांफ्रेंस में बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार पर भी जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा बिहार को लीड करने वाला नेता चाहिए ना कि पिछलग्गू बनकर कुर्सी पर बने रहने वाला नेता. उन्होंने कहा कि यहाँ बैठने का उद्देश्य किसी पार्टी को हराना या जिताना नहीं बल्कि बिहार को आगे बढ़ाने का है. प्रशांत किशोर ने इस दौरान कहा कि “मुझे किसी गठबंधन या राजनीतिक दल के कार्यक्रम में कोई दिलचस्पी नहीं है. मैं यहां किसी की पार्टी को बिगाड़ने या बनाने नहीं आया हूं.” उन्होंने कहा है कि मैं जब तक जीवित हूँ बिहार के लिए लड़ता रहूँगा.