2019 लोकसभा चुनावी मैदान में उतरे प्रकाश राज, बेंगलुरु सेंट्रल से बीजेपी को चुनौती

898

साउथ के फेमस एक्टर हैं प्रकाश राज… जिन्हें हम सब फिल्म सिंघम में जैकांत शिकरे के रोल के लिए पहचानते हैं. अपनी अच्छी एक्टिंग के लिए प्रकाश राज जितना फेमस हैं.. उतना ही फेमस हैं अपनी एंटी मोदी विचारधारा के लिए..  और अब अपनी इसी लड़ाई में आगे बढ़ते हुए वो बेंगलुरु सेंट्रल से लोक सभा इलेक्शन 2019 में खड़े भी हो रहे हैं, वो भी निर्दलीय जिसमे उनकी टैग लाइन है “अबकी बार जनता की सरकार ”  कुछ कुछ “अबकी बार मोदी सरकार” से मिलता जुलता है ना, इसका कन्फर्मेशन उन्होंने खुद अपने ट्विटर अकाउंट पर दिया है.वैसे लाइमलाइट में आने का अच्छा तरीका है सीधे प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ बोलने लग जाओ.. अचानक से आपको टीआरपी मिलनी शुरू हो जाती है. अगर आपके पास काम नहीं है तो आप try कर सकते है,वेल, सबके पास freedom of speech है तो आप जो चाहे बोल सकते हैं.. लेकिन प्रकाश राज कि मोदी सरकार से लड़ाई शुरू कैसे हुई अब इसपर बात करते हैं… तो ये सब शुरू हुआ सीनियर जर्नालिस्ट गौरी लंकेश कि गोली मारकर हुई हत्या के बाद, जिसमे प्रकाश राज का बयान आया कि प्रधानमंत्री उन लोगों को ट्विटर पर फॉलो करते हैं जो गौरी लंकेश की हत्या को सेलिब्रेट कर रहे हैं.. लेकिन सोचने वाली बात यह है कि इससे पहले भी तो काफी सारे पत्रकारों को मारा गया तब वो चुप क्यूँ थे..? इस केस पर ट्विटर पर खुले आम मोदी जी के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करते हुए उन्होंने बार बार गौरी लंकेश की हत्या पर सेंट्रल गवर्नमेंट और प्रधानमंत्री मोदी को घेरे में लेते हुए गुनाहगारों को सजा देने की डिमांड की.. जबकि कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार है और उस वक़्त गौरी लंकेश केस की आलरेडी सीबीआई जांच चल रही थी, इसके बाद तो उन्होंने मोदी सरकार के खिलाफ दिए गए बयानों की लाइन ही लगा दी.. कभी राम मंदिर मुद्दे पर.. कभी स्टेचू of यूनिटी पर..

 https://twitter.com/i/status/1060812689943932928

यहाँ तक कि उनके ट्विटर अकाउंट पर भी मोदी जी का ही बोलबाला है.. एक्चुअली एंटी मोदी पोस्ट्स का.कुछ समय पहले तक अपने आप को पॉलिटिकली न्यूट्रल कहने वाले प्रकाश राज को बॉलीवुड से भी यह शिकायत थी कि मोदी जी के खिलाफ बोलने के कारण ही उनको बॉलीवुड से काम मिलना बंद हो गया है.. शायद यही वजह होगी कि वो अब खुद राजनीति में आ रहे हैं.. पॉलिटिकली न्यूट्रल होने के बावजूद.अब चाहे कांग्रेस politicians के साथ उनके रिलेशन कितने ही क्लोज क्यूँ ना रहे हो या कन्हैया कुमार के साथ उनकी फोटो कितनी ही  वायरल हुई हो लेकिन थे वो पॉलिटिकली न्यूट्रल

फिलहाल प्रकाश राज ने अपनी पोलिटिकल पार्टी के नाम और चिन्ह की घोषणा नहीं की है.. लेकिन अपने ट्वीट में उन्होंने कहा है कि एक हफ्ते के अन्दर वो सारी जानकारी दे देंगे