महिलाओं के इन नेताओं के अपशब्द, “टंच माल” से लेकर ” हेमा मालिनी के गाल” तक! पढ़िए पूरी रिपोर्ट

395

भारतीय नेताओं की जुबान तो अक्सर फिसलती है. गालियाँ, अपशब्द तो नेताओं की जुबान पर रहता है. भारत में कुछ ऐसे नेता भी जो महिलाओं पर भी अभद्र टिप्पणी करने से बाज नही आते हैं. आज हम आपको नेताओं के कुछ ऐसे बयान दिखाने जा रहे हैं, जिसमें महिलाओं के लिए आप्प्तिजनक बातें की गयी हैं, जिसे देखकर आप भी शर्मा जायेंगे कि ये हैं हमारे नेता!
तो आइये शुरू करते हैं!
1) टंच माल
कांग्रेस के बडबोले और अक्सर बयानों के चलते विवादों में रहते वाले नेता दिग्विजय सिंह ने अपनी ही पार्टी की महिला नेत्री मीनाक्षी नटराजन जी पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि “मुझे पता है कि कौन फर्जी है और कौन सही है. इस क्षेत्र की सांसद मीनाक्षी नटराजन सौ टंच माल है.” दिग्गी ने फिर राखी सावंत पर टिप्पणी करते हुए कहा था अरविंद केजरीवाल और राखी सावंत जितना एक्सपोज करने का वादा करते हैं उतना करते नहीं हैं. उनके इस बयान पर राखी न उन्हें ‘सठिया गए हैं’ कहकर लताड़ा था.
2) पागल हाथी
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी जोकि रेल राज्य मंत्री थे यूपीए सरकार में…उन्होंने ममता बनर्जी पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि “ममता बनर्जी टीएमसी की मुखिया हैं. अगर ये मुखिया ही पागल हाथी की तरह व्यवहार करे, तो बाकी पार्टी मेंबरों के बारे में क्या कहा जा सकता है”
3) मायावाती को कोई औरंगज़ेब कैद करेगा
सपा के बड़े और विवादित नेता आजम खान का विवादों से तो जैसी गहरी मित्रता है. मायवती के लिए उन्होंने कहा था कि शाहजहां ने ताज महल बनवाया और मायावती ने अपनी मूर्तियां लगवाईं. शाहजहां को उनके बेटे औरंगजेब ने कैद किया था. ऐसे ही मायावती को जल्द ही कोई औरंगजेब कैद करेगा. जैसाकि आप देख ही रहे हैं कि इस बुआ और बबुआ की जोड़ी इस समय किस स्तर पर पहुँच चुकी है.
4) सजी संवरी लिपी पुती (डेंटेड-पेंटेड) महिलाएं
एक और कांग्रेसी नेता अभिजीत मुखर्जी ने महिलाओं के लिए कहा था विरोध प्रदर्शन करने वाली महिलाएं पिंक रिवोल्यूशन में मशगूल हैं. ये सजी संवरी लिपी पुती (डेंटेड-पेंटेड) महिलाएं दो मिनट की शोहरत पाने के लिए प्रदर्शन करने पहुंच जाती हैं.
5) ठुमके लगाने वाली बन गयी चुनाव विश्लेषक
संजय निरुपम, हां कांग्रेस के ही नेता संजय निरुपम, ने स्मृति इरानी को कहा था कि स्मृति ईरानी कल तक टीवी पर ठुमके लगाती थी. आज चुनाव विश्लेषक बन गई हैं.
6) हेमा मालिनी के गालों की तरह चमकेंगी सड़के
सपा नेता और अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके राजा राम पाण्डेय ने हेमा मालिनी पर टिप्पणी करते हुए कहा था बेल्हा की सड़कें हेमा मालिनी के गालों की तरह चमकेंगी, अभी तो फेशियल हो रहा है..
7) महिलाओं की इज्जत से भी बड़ा है वोट
शरद यादव–हाँ हाँ बिहार वाले, उन्होंने के सभा में ये तक कह दिया कि बेटियों की इज्जत से वोट की इज्जत बड़ी है. इतना ही नही उन्होंने एक और बयान देते हुए कहा था कि ‘साउथ की महिला जितनी ज्‍यादा खूबसूरत होती है, जितना ज्‍यादा उसकी बॉडी …वह पूरा देखने में काफी सुंदर लगती है. वह नृत्‍य जानती है.’
8) बलात्कार की सजा फांसी अनुचित है
कभी सपा के मुखिया रहे और बड़े नेता मुलायाम सिंह यादव ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि बलात्कार के लिए फांसी की सजा अनुचित है. लड़कों से गलती हो जाती है.” इस बयान के बाद नेता जी की खूब आलोचना हुई थी कि बलात्कार भी कोई गलती होती है.
9) सड़कों को हेमा मालिनी का गाल बना दूंगा.
लालू प्रसाद यादव, चारा घोटाले वाले, हां हां वही जो जेल में बंद हैं..उन्होंने कहा था कि पटना की सड़कों को हेमा मालिनी का गाल बना दूंगा.
10) क्षेत्र की विधायक ‘दारूवाली हैं
कांग्रेस नेता गोविंद सिंह राजपूत ने पारुल साहू पर सभा में तंज कसते हुए कहा था शराब जितनी पुरानी होती है उसे उतना अच्छा माना जाता है. क्षेत्र की विधायक ‘दारूवाली हैं उन्हें पुरानी सड़कें अच्छी लगती हैं, इसलिए उनका ध्यान जर्जर सड़कों की ओर नहीं जाता.
ये तो कुछ बयान थे जो आज हमने आपको दिखाएँ हैं. ऐसे ना जाने कितने नेता हैं जो महिलाओं के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं और किये हैं. अब आप सोचिये इन नेताओं को हम कैसे सबक सिखाए.