खुलासा : हैदराबाद पुलिस कमिश्नर ने बतायी कैसे हुई पूरी घटना, इसलिए चली गोली

11144

शुक्र्वार सुबह जब ये खबर सामने आई है कि हैदराबाद के गैंगरेप आरोपियों की एक एनकाउंटर में मौत हो गयी है तो अधिकतर लोगों में ख़ुशी थी कि ये राक्षस अब इस दुनिया में नही रहे. हालाँकि सुबह से ही, जब से ये खबर सामने आई है कि आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया गया है तब से कई तरह के सवाल खड़े किये जा रहे थे और खुद हैदराबाद के पुलिस कमिशनर ने इसका जवाब दिया है.

साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर वी. सी. सज्जनर ने इस दौरान बताया कि शुक्रवार सुबह वह उस क्षेत्र में सबूत इकट्ठे करने के लिए गए थे, इसी दौरान आरोपियों ने पुलिस वालों से हथियार छीनकर उन पर हमला कर दिया. इसके बाद उनका एनकाउंटर कर दिया गया. जिसमें चारो आरोपी मारे गये और पुलिस के दो जवानों को मामूली चोट आई है. आइये जानते है कि प्रेस कांफ्रेस में क्या बोले कमिश्नर वी. सी. सज्जनर ?

पुलिस कमिशनर ने बताया कि उस जगह पर महिला डॉक्टर का फोन, पावरबैंक, घड़ी इकट्ठा करने के लिए आए थे. जब वहां पर पहुंचे तो चारों आरोपियों ने लकड़ी-पत्थर और धारधार हथियार से हमला किया, पुलिस के हथियार भी छीने. जब आरोपियों ने हथियार छीन लिए, तो पुलिस ने उनसे एनकाउंटर के लिए कहा लेकिन उन्होंने गोलीबारी जारी रखी. इसी जवाब में पुलिस ने फायरिंग की. करीब 5-10 मिनट तक पुलिस ने फायरिंग की, जब फायरिंग रुकी तो चारों आरोपी मारे जा चुके थे. इस मुठभेड़ में दो पुलिसवालों को चोट भी आई है, पुलिसकर्मियों को गोली नहीं लगी है बल्कि सिर पर चोट आई है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस ने कहा कि उन्होंने इसका वीडियो नहीं बनाया है, क्योंकि मुख्य काम सबूत इकट्ठा करना था. पुलिस कमिश्नर वी. सज्जनर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मानवाधिकार के सवालों पर कहा, ‘मैं इतना ही कह सकता हूं कि कानून ने अपना काम किया’. हमें आरोपियों के कब्जे से दो हथियार भी मिले है, इन्हें 30 नवंबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था. पुलिस कमिशनर ने ये भी बताया कि तेलंगाना और कर्नाटक में उनके खिलाफ कई केस चल रहे है. जिसकी अभी जांच चल रही है.

हालाँकि पुलिस पर कई सवाल खड़े हो रहे थे, कई तरह एक आरोप लगाए जा रहे थे कि आखिर पुलिस ने ऐसे कैसे एनकाउंटर कर दिया. पुलिस ने प्रेस कांफ्रेस कर सभी सवालों के जवाब दे दिए.