जनता के पैसे लूटने के बाद धर्म बदल कर ऐयाशी करता रहा PMC बैंक का पूर्व एमडी

लोगों ने अपनी मेहनत और जीवन भर की कमाई को पंजाब एंड महाराष्ट कोऑपरेटिव बैंक में ये सोच कर रखा था कि उनकी पूंजी सुरक्षित रहेगी लेकिन उन्हें कहाँ पता था कि इस बैंक का एमडी उनके जीवन भर की पूंजी को अपनी ऐयाशियों में उड़ा रहा है. पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक घोटाला मामले में कई दिलचस्प खुलासे ही हैं. इस घोटाले के मुख्य आरोपियों में से एक पूर्व एमडी जॉय थॉमस ने न सिर्फ जनता के पैसों का खूब खेल किया और अपनी संपत्तियां बनाई बल्कि अपना धर्म बदल कर ऐयाशियाँ भी कर रहा था.

आर्थिक अपराध शाखा ने मामले की जांच करते हुए पाया कि सभी संपत्तियां तब खरीदनी शुरू हुई जब HDIL के आरोपी राकेश और सारंग वधावन ने लोन वापस करना बंद कर दिया था और एक्स्ट्रा अमाउंट उधार लेते रहे. यानि कि साल 2012 की शुरुआत में. जॉय थॉमस ने 2012 से कोंडवा और पुणे में 9 फ्लैट और 1 दुकान खरीदी थी. इन संपत्तियों को थॉमस ने अपनी दूसरी पत्नी के साथ मिलकर खरीदा था.

निजी ज़िन्दगी भी काफी रहस्मय

जिक्र चला है दूसरी पत्नी का तो आपको बता दें कि जॉय थॉमस का निजी जीवन भी कम रहस्यों से भरा हुआ नहीं था. वो विवाहित था लेकिन इसके बावजूद उसने अपनी PA के साथ सबंध बनाए. जब दोनों के बीच प्रेम प्रसंग की खबरें बाहर आने लगी तो PA ने साल 2005 में नौकरी छोड़ दी. नौकरी छोड़ने का कारण बताया कि वो शादी कर रही है और अब अपने पति के साथ दुबई में रहेगी लेकिन उसने शादी नहीं की बल्कि पुणे शिफ्ट हो गई.

जॉय अपनी PA के प्यार में पागल था. उसके साथ शादी करने के लिए जॉय से जुनैद खान बन गया. पुणे में वो जुनैद के तौर पर जीवन जीने लगा. उसकी PA ने भी नाम और धर्म बदल लिया. दोनों ने एक बच्ची को गोद भी लिया, बाद में उन्हें एक बेटा भी हुआ. पुणे में ज्यादातर संपत्तियां जुनैद और पत्नी के बदले हुए नाम के साथ खरीदी गई हैं. पुणे में जो संपत्तियां खरीदी गई, उसकी कीमत 4 करोड़ होने का अनुमान है.

पूछताछ में जॉय ने अपना नाम जुनैद बताया लेकिन उसके पास जुनैद नाम का कोई दस्तावेज मौजूद नहीं है . फाइनैंशल रिकॉर्ड्स, बैंक और अन्य आधिकारिक दस्तावेजों में वह जॉय थॉमस ही बना रहा. अब तक मुंबई और ठाणे में जॉय उर्फ़ जुनैद के 4 फ़्लैट जब्त किये जा चुके हैं. दूसरी पत्नी पुणे में ही रहती है. उसका चॉकलेट बनाने का कारोबार है. उसका एक बुटीक भी है और पुणे की संपत्तियों का किराया भी वही वसूलती है. जॉय की पहली पत्नी को जब उसकी दूसरी ज़िन्दगी और हरकतों के बारे में पता चला तो उसने तलाक के लिए मुकदमा दायर कर दिया .

पीएमसी बैंक में 4,355 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में जॉय जेल में बंद हैं। उनके साथ ही HDIL के प्रमोटर राकेश वाधवन और उनके बेटे सारंग भी जेल में है.

Related Articles