देश के युवाओं के लिए क्या किया PM मोदी ने?

देश के युवाओं के लिए क्या किया प्रधानमंत्री मोदी ने? ये एक ऐसा सवाल है जो देश के हर युवा के मन में आता है क्यूंकि PM मोदी ने सत्ता में आते ही सबसे पहले यह वादा किया था कि वो युवाओं के लिए नौकरियां और रोज़गार के अवसर पैदा करेंगे.. वादे के अनुरूप 5 साल में वो कौन कौन सी योजनायें लेकर आये जो हैं ख़ास युवाओं के लिए Aआइये जानते हैं

1-MUDRA YOJNA

अगर आप छोटा बिजनेस या खुद का व्‍यापार शुरु करना चाहते हैं लेकिन आपके पास पर्याप्त राशि नहीं है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए आवेदन करके 50 हजार रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक लोन ले सकते हैं और अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश के छोटे उद्यमियों की सहायता के लिए दिल्‍ली में प्रधानमंत्री मुद्रा (माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी, MUDRA) योजना की शुरुआत की थी। पीएम मोदी ने इस योजना को देश के विकास के लिए बेहद जरूरी बताया था।

बैंक ने कर्ज लेने वालों को तीन हिस्सों में बांटा है

शिशुः इसके दायरे में 50 हजार रुपए तक के कर्ज आते हैं।

किशोरः इसके दायरे में 50 हजार से 5 लाख रुपए तक के कर्ज आते हैं।

तरुणः इसके दायरे में 5 से 10 लाख रुपए तक के कर्ज आते हैं।

2- START-UP INDIA ACTION PLAN

युवाओं में स्टार्ट अप कल्चर प्रमोट करने के लिए यह नयी स्कीम लेकर आई  जिसके तहत नए आईडिया के साथ कारोबार शुरू करने वालों के लिए सेल्फ सर्टिफिकेशन,
पेटेंट फीस में 80% की छूट,
3 साल तक नो इंस्पेक्शन
3 साल तक इनकम टैक्स में छूट जैसी कई सुविधाएं दी हैं.. जिसका फायदा उठाकर काफी सारे युवाओं ने रोज़गार शुरू किया

 

https://youtu.be/p7GHqKCpY28 (1.12-1.16)

3- STAND UP INDIA (FOR FEMALES AND SC-ST’S)

स्टैंड अप इंडिया योजना अनुसूचित जाती, अनुसूचित जनजातियों और महिला उद्यमियों के लिए हैं जिसका उद्देश्य  है इन लोगों को आसानी से 10 लाख से 1 करोड़ तक का बैंक लोन देना

4- PM KAUSHAL VIKAS YOJNA

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) केन्द्र सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं में से एक है. यह कौशल विकास एवं उद्यमता मंत्रालय की ओर चलाई जाती है. 

PMKVY का उद्देश्य देश के युवाओं को उद्योगों से जुड़ी ट्रेनिंग देना है जिससे उन्हें रोजगार पाने में मदद मिल सके. इसमें ट्रेनिंग की फीस सरकार खुद भुगतान करती है. 

सरकार PMKVY के जरिये कम पढ़े लिखे या 10वीं, 12वीं कक्षा ड्राप आउट (बीच में स्कूल छोड़ने वाले) युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देती है. सरकार ने साल 2020 तक PMKVY के तहत एक करोड़ युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा है.



https://youtu.be/ChvwKpXI2oI (0.49-1.04)

Related Articles

22 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here