साध्वी प्रज्ञा को लेकर प्रधानमंत्री ने राहुल-सोनिया पर बोला हमला, ताजा इंटरव्यू आया सामने

270

हिन्दू आतंकवाद और हिन्दू आतकवादी शब्द को गढ़ने वाले और इसका जोरशोर से प्रचार प्रसार करने वाले लोग आज हंगामा कर रहे हैं. शर्मनाक बता रहे हैं. शर्मनाक कह रहे हैं कि हिन्दू आतंकवाद का आरोप झेल चुकी साध्वी प्रज्ञा को टिकट मिला है साध्वी प्रज्ञा को बीजेपी से टिकट मिलना दुर्भाग्यपूर्ण बताया जा रहा है लेकिन अब प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर अपनी बात रखी है और बताया है कि इस पर आखिर लोग इतना हंगामा क्यों कर रहे हैं.

दरअसल साध्वी प्रज्ञा के बारे में तो आप जानते हो होंगे… उन्हें हिन्दू आतंकी कहकर जेल में बंद कर दिया गया.. उन्हें आतंकी साबित करने के लिए पूरी कोशिश की गयी .. यातनाएं दी गयीं प्रताड़ित किया गया.. परेशान किया गया.. पता नही क्या क्या किया गया.. ये सब साध्वी प्रज्ञा ने खुद बताया कि उनके साथ क्या क्या हुआ… हालाँकि अब वे जेल से बाहर हैं बेल पर… इसी दौरान चुनाव में हिन्दू आंतकवादी शब्द को गढ़ने और फैलाने वाले कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा को बीजेपी की तरफ से उतारा गया.. इसके बाद तो जैसे बीजेपी और साध्वी प्रज्ञा का विरोध करने वाले बीजेपी के विपक्षी दलों में बाढ़ सी आ गयी.. हालाँकि साध्वी को लेकर अब प्रधानमंत्री ने भी बयान दिया है.. टाइम्स नाउ को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी को निशाने पर लेते हुए कहा कि अमेठी और रायबरेली से कॉन्ग्रेस उम्मीदवार भी जमानत पर रिहा है। इस पर कोई सवाल नहीं करता, लेकिन भोपाल की उम्मीदवार (प्रज्ञा ठाकुर) जमानत पर है, तो ये बहुत बड़ा सवाल बन गया है. इन सबको जवाब देने के लिए साध्वी प्रज्ञा एक प्रतीक हैं और यह कांग्रेस को बहुत महंगा पड़ने वाला है.

इसके आगे प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब 1984 में इंदिरा गाँधी की मृत्यु हुई, तब उनके बेटे ने कहा था कि जब एक बड़ा पेड़ गिरता है तो पृथ्वी हिलती है। इसके बाद, हजारों सिखों का नरसंहार हुआ। क्या ये कुछ लोगों द्वारा फैलाया गया आतंक नहीं था? और इसके बावजूद भी राजीव गाँधी को देश का प्रधानमंत्री बनाया गया। उस समय मीडिया ने कभी ऐसा सवाल नहीं पूछा, जैसा वह अब सवाल पूछ रहे हैं। सिख दंगों के आरोपियों को कॉन्ग्रेस ने बड़ा मंत्री बनाया। उनमें से एक आज मप्र का मुख्यमंत्री है। पीएम मोदी ने कहा कि एक महिला वह भी साध्वी को जब प्रताड़ित किया गया, तब किसी ने उँगली नहीं उठाई।

इसके आगे पीएम मोदी ने कहा कि वो गुजरात में रहे हैं और कांग्रेस के तौर तरीके से परिचित हैं…कांग्रेस फिल्म की कहानी लकी तरफ स्क्रिप्ट गढ़ने का काम करती है. किसे विलन बनाना है सब तय हो जाता है.  पहले वो कुछ उठाते हैं, फिर उसमें कुछ जोड़ते हैं, उसके बाद अपनी कहानी के लिए एक खलनायक जोड़ते हैं, ताकि कहानी का झूठा प्रचार किया जा सके।

 मोदी ने कहा कि समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट हुआ.. जांच हुई कुछ नही निकला… जज लोया की मौत को हत्या साबित करने पर तुली रही..दूनिया में 5,000 साल तक जिस महान संस्कृति और परंपरा ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ का संदेश दिया, ‘सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे संतु निरामया’ का संदेश दिया,  ऐसी संस्कृति को कॉन्ग्रेस ने आतंकवादी कह दिया…

वहीँ अब कुछ दिन पहले ही साध्वी प्रज्ञा ने मुंबई आतनी हमले को विवादित बयान दे दिया था. इस पर खूब हंगामा हुआ था. हालाँकि इसके बाद उन्होंने इस पर माफ़ी मांगी और कहा कि भावुकता में मैंने कह दिया था उसके लिए मैं माफ़ी मांगती हूँ.

हालाँकि एक तरफ हिन्दू आतंकवाद शब्द का प्रचार करने वाले दिग्विजय सिंह और दूसरी तरफ हिन्दू आतंकवाद की पीडिता साध्वी प्रज्ञा चुनावी मैदान में हैं. देखना बेहद दिलचस्प होने वाला है कि आखिर इस चुनाव में जीत कौन हासिल करता है.