राजनीति की पिच पर मोदी जी के इन 4 चौको के बारे में आपको जानना चाहिए

329

देश की राजनीतिक पिच पर पीएम नरेंद्र मोदी का ही जलवा है।जैसे-जैसे लोक सभा चुनाव का रण नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे पीएम मोदी फ्रंटफुट पर बैटिंग कर रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में मोदी सरकार के फैसले बताते हैं कि वो 2019 का ये मैच हर हाल में जीतना चाहते हैं और इसीलिए स्लॉग ओवर में पीएम मोदी चौका की बरसात कर रहे हैं. बजट के द्वारा मोदी सरकार ने बड़े चौका लगाए हैं.

मोदी का पहला चौका सामान्य वर्ग के लिए था : सामान्य वर्ग को आर्थिक आधार पर केंद्र सरकार की सभी नौकरियों में 10 फ़ीसदी आरक्षण भी लागू हो गया है. अब बजट 2019 में आयकर की सीमा को बढ़ाकर 5 लाख रुपये तो कर दिया गया लेकिन आयकर देने वालों में फिर भी यह असमंजस की स्थिति बनी कि ग़रीब के तौर पर आरक्षण का फ़ायदा लेने वाले उन लोगों को टैक्स देना पड़ेगा जिनकी आय पांच लाख सालाना से ऊपर है.

दूसरा चौका राम मंदिर पर यानी की अयोध्या में अविवादित जमीन पर याचिका : अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर बढ़ते दबाव के बीच केंद्र सरकार ने एक महत्वपूर्ण पहल करते हुये अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादित स्थल के आसपास की 67.390 एकड़ अधिग्रहित ‘विवाद रहित’’भूमि उनके मालिकों को लौटाने की अनुमति के लिये उच्चतम न्यायालय में एक आवेदन दायर किया। इस पहल को लोक सभा चुनावों से कुछ समय पहले केंद्र सरकार का महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है ।

तीसरा चौका , 5 लाख की कमाई पर टैक्स नहीं : मोदी सरकार ने आयकर छूट की सीमा ढाई लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है. लोकसभा चुनाव से पहले सवर्ण आरक्षण के बाद यह मोदी सरकार का दूसरा सबसे बड़ा दांव है. पिछले 5 साल से देश की जनता को टैक्स के मोर्च पर सरकार से रियायत की उम्मीद थी, और सरकार ने भी उन्हें नाउम्मीद नहीं की.मोदी सरकार ने आयकर छूट की सीमा ढाई लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है.

लोकसभा चुनाव से पहले सवर्ण आरक्षण के बाद यह मोदी सरकार का दूसरा सबसे बड़ा दांव है. पिछले 5 साल से देश की जनता को टैक्स के मोर्चे पर सरकार से रियायत की उम्मीद थी, और सरकार ने भी उन्हें नाउम्मीद नहीं की.दरअसल नए ऐलान के अनुसार नौकरी-पेशा लोगों को 5 लाख रुपये तक की कमाई पर अब कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा.अब तक ढाई लाख से 5 तक लाख रुपये तक की कमाई पर 5 फीसदी आयकर टैक्स देना पड़ता था, जिसे अब खत्म कर दिया गया है. यानी जिनकी आमदनी 5 लाख रुपये से ज्यादा है, उन्हें पुराने टैक्स स्लैब के अनुसार टैक्स देना ही पड़ेगा.

चौथा चौका , किसानों और मजदूरों को फायदा : किसानों-मजदूरों को अपने पाले में लाने के लिए मोदी सरकार ने इसी अंतरिम बजट के जरिए ओवर की चौथी ही गेंद अपना चौथा छक्का मारा। 75000 हजार करोड़ का बजट किसान सम्मान निधि के नाम पर तय कर दिया है, इसके तहत छोटे किसानों को हर साल 6 हजार रुपए सीधे उनके खाते में डाले जाएंगे।मोदी सरकार की इस योजना के दायरे में करीब 12 करोड़ किसान परिवार आएंगे। इसके अलावा 15 हजार मासिक से कम आय वाले श्रमिकों के लिए पेंशन योजना का एलान किया गया है।100 रुपए या इससे भी कम प्रीमियम रिटायरमेंट की उम्र के बाद 3000 रु की पेंशन मिलेगी।

जिसका फायदा करीब 10 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। ये तो है पीएम मोदी के कुछ ऐसे धमाकेदार shots जिनके जिक्र के बिना मजा नही आता… अभी चुनाव जैसे जैसे करीब आता जाएगा… उम्मीद है पक्ष विपक्ष दोनों तरफ से ऐसी पारियां खेली जाएंगी…