प्रधानमंत्री मोदी को मिला विश्व विख्यात सोल शान्ति पुरस्कार क्या है, यहां जानिए

338

प्रधानमंत्री मोदी के प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर है और खबर है कि PM मोदी को साउथ कोरिया के दौरे पर सोल शान्ति पुरस्कार से नवाजा गया है, PM मोदी को यह पुरस्कार पिछले चार सालों में अंतरराष्ट्रीय सहयोग में योगदान और वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए दिया गया है, कार्यक्रम के दौरान PM नरेन्द्र मोदी की जिंदगी और उनकी उपलब्धियों पर एक शोर्ट फिल्म भी दिखाई गई.. पीएम मोदी ने कहा कि यह भारत के 130 करोड़ नागरिकों और दुनिया भर में रह रहे भारतीयों का सम्मान है। इस पुरस्कार के तहत 2 लाख अमेरिकी डॉलर यानी करीब 1 करोड़ 30 लाख रुपये की राशि भी दी जाती है।

यह सम्मान हासिल करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी पहले भारतीय और 14वीं शख्सियत हैं। इस दौरान ख़ास बात यह भी रही कि मोदी जी को यह अवार्ड उस साल मिला जब महात्मा गांधी की 150वी जयंती भी है… पुरस्कार में मिली 2लाख US डॉलर्स की राशि को उन्होंने केंद्र के प्रमुख प्रोजेक्ट नमामि गंगे को समर्पित कर दी.

पहली बार ये प्रतिष्ठित पुरस्कार किसी भारतीय को मिला है, इससे पहले यह पुरस्कार संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान को भी मिल चुका है, उससे पहले जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल जैसी हस्तियां और डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स और ऑक्सफैम जैसे प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय राहत संगठन शामिल हैं.

आपको बता दें, इस अवार्ड के लिए दुनियाभर से कुल 1300 नामांकन आए थे. अवॉर्ड कमेटी ने उनमें से 150 उम्मीदवारों को अलग किया गया. इन 150 उम्मीदवारों में से प्रधानमंत्री मोदी का चयन किया गया. कमेटी ने पीएम मोदी को ‘द परफेक्ट कैंडिडेट फॉर द 2018 सोल पीस प्राइज’कहा है.

आइये अब यह जानते हैं क्या है कि सोल शांति पुरस्कार क्या है, क्यूँ और किसे दिया जाता है ?

सोल शान्ति पुरस्कार की शुरुआत 1988 में साउथ कोरिया में आयोजित हुए 24वें समर ओलपिंक के दौरान हुई जिसमें 160 देशों के लोग एक ही मंच पर एक साथ आये थे, इससे उनके मन में एकजुटता और दोस्ती की भावना पैदा हुई.. बस फिर क्या इसी को देखते हुए साउथ कोरिया ने दुनिया को शान्ति, अमन-चैन, एकजुटता और दोस्ती के उद्देश्य से “सोल शान्ति पुरस्कार” की शुरुआत कर दी.

किसे दिया जाता है यह पुरस्कार

सोल शांति पुरस्कार के लिए सिनेमा, खेल, राजनीति, विज्ञान, शिक्षा जैसे क्षेत्रों के प्रसिद्ध लोगों को चुना जाता है, जिन्होंने समाज, शांति और एकजुटता के लिए कुछ काम किया हो. पुरस्कृत व्यक्ति को डिप्लोमा, APPRECIATION सर्टिफिकेट और 2 लाख अमेरिकन डॉलर्स की राशी दी जाती है

तो यह थी सोल पीस प्राइज से जुडी सारी बातें.. जिस वक़्त भारत के प्रति नापाक इरादे रखने वाले लोग यहाँ की शान्त फिजाओं में आतंक घोलना चाह रहें हैं.. उसी दौरान भारत के प्रधानमंत्री को विश्व भर में शान्ति और सौहार्द के प्रति कार्य करने के लिए विश्व का सबसे प्रतिष्ठित सोल शान्ति पुरस्कार दिया जाता है.. यह जहाँ देशवासियों के लिए एक अच्छा सन्देश है तो वही उन लोगों के लिए चेतावनी भी है जिन्होंने भारत की शान्ति और सौहार्द को नष्ट करने की गुस्ताखी की कि भारत के खिलाफ आप कितने ही नापाक इरादों को अंजाम दे दे.. इस देश की अवाम के बीच आतंक नहीं फैला पाएंगे… मिट गए भारत को मिटाने की जुर्रत करने वाले.