इन चार ऐलानों के साथ भारत की अर्थव्यवस्था पकड़ेगी रफ़्तार

देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए राहत पैकेज देने की तैयारी में है. सरकार इसका ऐलान कभी भी कर सकती है. CNBC-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, मोदी सरकार ऑटो समेत 4 सेक्टरों के लिए जल्द राहत पैकेज की घोषणा करेगी. इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय में दो से तीन बैठक हो चुकी हैं.

पहला ऐलान ये है कि ऑटो सेक्टर के अलावा 4 और सेक्टर के लिए राहत पैकेज की घोषणा हो सकती है. इनमें फाइनेंशियल सेक्टर लघु और मध्यम उद्योग रियल एस्टेट बैंक और एनबीएफसी भी शामिल हैं. दूसरा ऐलान ये है कि फाइनेंशियल मार्केट के लिए भी सरकार कदम उठाएगी और फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स को सरचार्ज से राहत देगी. तीसरा ऐलान किया कि इसके साथ ही सरकार रोजगार देने वाले सेक्टर पर खास फोकस भी करेगी. लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योगों को आसान शर्तों पर लोन के लिए खास इंतजाम किए जा सकते हैं. चौथा ऐलान ये किया है कि सरकार का बैंकों और नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल सर्विसेज पर खास फोकस होगा.

हालांकि, बजट में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सालाना 2 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाई करने वाले लोगों पर सरचार्ज बढ़ा दिया था. जल्द ही इस राहत पैकेज का ऐलान किया जा सकता है. देश की अर्थव्यवस्था में फिर से तेज़ी लाने के लिए सरकार की तरफ से ये ऐलान जल्द हो सकते है. देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे विषय को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ कई बार मीटिंग भी की थी. मीटिंग में वित्त मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को सभी सेक्टर्स से जुड़ी परेशानियों के बारे में बताया. निर्मला सीतारमण ने उन्हें बताया कि ऑटो और रियल्टी सेकटर्स में बिक्री गिरने और इनवेंट्री बढ़ने से दिक्कते बढ़ी है. देश के कई सेक्टर्स में धीमापन है, जिससे देश का आर्थिक विकास दर कम हो रहा है. इसी को लेकर सरकार ये कदम उठा रही है.

Related Articles