पीएम मोदी का नया बिजनेस मॉडल, कहा मैं इसे वॉवेल्स ऑफ न्यू नॉर्मल कहता हूं

276

कोरोना वायरस की वजह से आज आम जनजीवन जितना अस्त व्यस्त हो गया है. वही दूसरी तरफ सभी कामकाज भी ठप हो चुके है. लोगो की दिनचर्या लॉक डाउन की वजह से पूरी तरह बदल गयी है. यह बदलाव दुनिया भर के लोगो में बहुत बड़ा आया है. लोगो के घर उनका ऑफिस बन गए है. वही दूसरी तरफ कोरोना वायरस भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. जिसकी वजह से लोगो को और दिक्कतें हो रही है.

वहीं पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट से यह अहसास हो गया है कि दुनिया को नए बिजनस मॉडल्स की जरूरत है.  उन्होंने एक आर्टिकल को शेयर करते हुए कहा कि युवा ऊर्जा से लबालब भारत कोविड-19 के बाद की दुनिया को यह नया मॉडल देगा. कोरोना वायरस की वजह से बहुत कुछ बदल गया है. किसी ने जो सोचा नहीं होगा, वैसी परिस्थितियां पैदा हो गई हैं.

इसी के साथ उन्होंने लिखा कि युवा ऊर्जा से लबालब भारत दुनिया को एक नई कार्य संस्कृति दे सकता है क्योंकि यह राष्ट्र अपने नवोन्मेषी विचारों के प्रति उत्साह के लिए मशहूर है. पीएम मोदी ने नए मॉडल की रुपरेखा को अंग्रेजी वर्णमाला के पांच स्वर के आधार पर निर्धारित किया. जिसमें ए, ई, आई, ओ और यू के आधार पर अडेप्टेबिलिटी (अनुकूलता), एफिशिएंसी (दक्षता), इन्क्लूजिविटी (समावेशिता), अपॉर्च्युनिटी (अवसर) और यूनिवर्सलिजम (सार्वभौमिकता) को बताया  

इसके अलावा उन्होंने लिखा कि मैं इसे वॉवेल्स ऑफ न्यू नॉर्मल कहता हूं क्योंकि अंग्रेजी भाषा में वॉवेल्स की तरह ही ये भी कोविड के बाद की दुनिया के नए बिजनस मॉडल के अनिवार्य अंग बन जाएंगे. क्यूंकि आज दुनिया नए प्रकार के बिजनस मॉडल्स की तलाश कर रही है. जाहिर ही कोरोना वायरस के खत्म होने केबाद भी बहुत लोगो की जिंदगी पर इसका असर पड़ेगा. ऐसे में हर स्थिति को ध्यान में रखते हुए एक नयी दिशा में यह कदम उठाने की जरूरत पड़ेगी.