नजदीक आ रही 3 मई की तारीख , पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे मीटिंग, लिया जा सकता है बड़ा फैसला

8380

2 मई लॉकडाउन की आखिरी तारीख है. जिस तरह कोरोना के केस कम होने का नाम नहीं ले रहे और प्रतिदिन 500 से ऊपर केस सामने आ रहे हैं. उससे केंद्र सरकार और राज्य सरकारें चिंतित है. इस बात पर भी विचार विमर्श चल रहा है कि 3 मई के बाद क्या कदम उठाया जाए. केंद्र सरकार लगातार इस बात पर मंथन कर रही है कि क्या ऐसे हालात में रेल और विमान सेवाएं शुरू करना सही रहेगा. हालाँकि इसकी उम्मीद कम ही है कि 3 मई के बाद सबकुछ नॉर्मल हो सके. लेकिन पीएम मोदी बिना राज्य सरकारों से सलाह लिए कोई भी कदम नहीं उठाना चाहते. इसलिए 27 अप्रैल को पीएम मोदी और सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की मीटिंग वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये होगी.

27 अप्रैल को होने वाली मीटिंग में ही पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से फीडबैक भी लेंगे और उसी आधार पर आगे की रणनीति बनेगी. 14 अप्रैल को हुई महत्वपूर्ण बैठक के बाद ही केंद्र सरकार ने 3 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय लिया था. इससे पहले पीएम मोदी ने 11 अप्रैल को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की थी. इस बैठक में ज्यादातर राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन को बढ़ाए जाने की सहमति दी थी.

अब तक देश में कोरोना मरीजों की संख्या 20 हज़ार को पार कर चुकी है. मौत का आंकड़ा 652 हो गया है. महाराष्ट्र कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. सबसे ज्यादा कोरोना मरीज महाराष्ट्र में ही हैं. लॉकडाउन के बावजूद कोरोना के केस लगातार बढे हैं. ऐसे में 3 मई के बाद पीएम मोदी क्या फैसला लेते हैं ये 27 अप्रैल के बाद ही सामने आ पायेगा.