7 मार्च को कोलकाता में पीएम मोदी की महारैली के लिए सुरक्षा की अभेद तैयारियां, परिंदा भी नहीं मार सकेगा पर

7 मार्च को पीएम मोदी कोलकाता पहुँच रहे हैं. विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद ये पीएम मोदी की पहली चुनावी रैली होगी. इसके लिए तैयारियां जोर शोर से की जा रही है. कहा जा रहा है कि इस महारैली में कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में होने वाली इस रैली में 7 लाख लोग जुटेंगे. इसी दिन भाजपा की पांचो परिवर्तन यात्राओं का भी समापन हो रहा है. एक तरफ जहाँ भाजपा कार्यकर्ता इस महारैली को सफल बनाने के लिए जी जान से जुटे हैं. वहीँ दूसरी तरफ सुरक्षा एजेंसियां भी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. पीएम मोदी की रैली में सुरक्षा के इतने कड़े बंदोबस्त किये जा रहे हैं कि परिंदा भी पर नहीं मार सके. पीएम मोदी की रैली से पहले कोलकाता पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों की ओर से शहर में कड़े सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे हैं.

पीएम मोदी के मंच के सामने चार स्तरीय बैरीकेडिंग की गई है. मुख्य मंच के साथ दो और छोटे मंच तैयार किये गए हैं जिसपर स्थानीय नेताओं और मीडिया कर्मियों के बैठने की व्यवस्था होगी. कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में और उसके आसपास 1,500 सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. मुख्य मंच के पीछे एक सेंट्रलाइज्ड कंट्रोल रूम बनाया जाएगा. जहाँ से सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी की जायेगी. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूरे मैदान को बांस और बल्लों से घेरा जाएगा.

पीएम मोदी की रैली के लिए शहर में ट्रैफिक की व्यवस्था को भी परिवर्तित किया जाएगा. ब्रिगेड परेड ग्राउंड की तरफ जाने वाली सड़कों पर भारी वाहनों की आवाजाही 6 तारीख की शाम से ही प्रतिबंधित रहेगी. इसके अलावा एहतियात के तौर पर हेस्टिंग्स, कैथेड्रल रोड, खिदिरपुर, एजेसी बोस रोड और हॉस्टिपल रोड जैसे व्यस्त हिस्सों पर विशेष रूप से मालवाहक वाहनों पर और अन्य वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया जाएगा. पुलिस ने कहा कि 7 मार्च को रात 8 बजे से पहले किसी भी बाहरी सामान को कोलकाता में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. पूरे सुरक्षा तंत्र की निगरानी कोलकाता पुलिस के साथ एसपीजी के अधिकारियों की ओर से की जाएगी.

Related Articles