कोरोना संकट में भारत, पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों संग कर बैठक कर दिए ये निर्देश

531

कोरोना की दूसरी लहर ने हाहाकार मचा रखा है. जिस वजह से देश में तनाव का माहौल बना हुआ है. वही दूसरी तरफ हर दिन लाखो की संख्या में नए नए मामले सामने आ रहे है. साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. जिस वजह से सरकार की भी चिंता बढ़ी हुई है. वही अब गाँवों में भी कोरोना का खतरनाक असर देखने को मिल रहा है. जिस वजह से पीएम मोदी ने आज यानी मंगलवार को देश के 46 प्रभावित जिलों के डीएम से सीधे संवाद किया. इस दौरान स्थानीय स्थिति, डीएम के अनुभव और आने वाली तैयारियों पर चर्चा की. बता दें कि इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद है.

बता दें कि पीएम मोदी ने डीएम से बात करते हुए कहा कि कोरोना काल में कई लोगों ने अपने परिवारवालों को खोया है. इसके अलावा उन्होंने सभी डीएम से कहा कि आपने अपने जिलों में क्या किया है, वह मुझे लिखकर भेजें, हम अन्य जिलों में भी उसे लागू करेंगे. इसके साथ ही पीएम ने कहा कि हर जिले की अपनी अलग चुनौतियां हैं. अगर आपका जिला जीतता है देश जीतता है. गांव-गांव में ये संदेश जाना चाहिए कि वह अपने गांव को कोरोना मुक्त रखेंगे. साथ ही ये भी कहा कि गांववाले खुद को अपने हिसाब से बचा रहे है.

कोरोना की पहली लहर के दौरान भी गांववालों ने इस महामारी से बचने के लिए कदम उठाये थे. सभी डीएम इस युद्ध के फील्ड कमांडर हैं. लोगों को सही और सटीक जानकारी पहुंचानी चाहिए, ताकि किस अस्पताल में कितने बेड हैं और कहां पर बेड्स खाली हैं. फ्रंटलाइन वर्कर्स को बढ़ावा देना जरूरी है.  जाहिर है कि अब गाँवों में कोरोना का कहर साफ़ देखने को मिल रहा है और इसी वजह से गाँवों में महामारी ज्यादा फैले और उसे संभालना मुश्किल हो इसके लिए ठोस कदम उठाये जाने की जरूरत है.