पीएम मोदी ने बिहार को दी 900 करोड़ रुपये की सौगात, क्षेत्र का होगा विकास और पैदा होंगे रोजगार

62

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज बिहार वासियों को करीब 900 करोड़ रुपये की सौगात दी. इन सौगातों में जिसमें एक एलपीजी पाइपलाइन परियोजना व दो बॉटलिंग संयंत्रों का उद्घाटन शामिल है. इससे बिहार के कई जिलों को सीधा फायदा पहुंचेगा. पीएम मोदी ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग की मदद से बांका जिला के बाराहाट प्रखंड के मधुसूदनपुर में भागलपुर-हंसडीहा मुख्य मार्ग पर स्थित इंडियन ऑयल के रिफिलिंग प्लांट का उदघाटन किया. इस प्लांट के खुलने से क्षेत्र के विकास के साथ साथ स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे. बांका में खुलने वाले इस प्लांट से बांका के अलावा भागलपुर, जमुई, लखीसराय, कोसी-सीमांचल के पूर्णिया, कटिहार, अररिया और मधेपुरा को सीधा फायदा होगा.

करीब तीस एकड़ में फैला यह प्लांट एक सौ तीस करोड़ की लागत से बना है जो चार वर्षों में बनकर तैयार हुआ है. इसके उद्घाटन की प्रतीक्षा क्षेत्र के लोगों को बहुत बेसब्री से थी. यह प्लांट अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी से लैस है जहां रोजाना 30 हज़ार गैस सिलिंडर की रिफिलिंग होगी. बॉटलिंग संयंत्र से बिहार की रसोई गैस की मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी. न सिर्फ बिहार के जिलों बल्कि झारखण्ड के सीमावर्ती जिलों को भी इसका फायदा पहुंचेगा.

एलपीजी बॉटलिंग प्लान्त्के अलावा पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड का भी आज पीएम मोदी ने उद्घाटन किया. दुगार्पुर-बांका सेक्शन में पाइपलाइन बिछाने में कई प्राकृतिक और मानव निर्मित बाधाओं को पार करने की आवश्यकता थी. बताया गया है कि इसके लिए कुल 154 क्रॉसिंग को पाटा गया और जिसमें 13 नदियां, पांच राष्ट्रीय राजमार्ग और तीन रेलवे क्रॉसिंग शामिल हैं. 193 किलोमीटर की दुर्गापुर-बांका पाइपलाइन खंड पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन विस्तार परियोजना का हिस्सा है. पीएम मोदी ने 17 फरवरी, 2019 को इसका शिलान्यास किया था. और डेढ़ साल बाद आज इसका उद्घाटन भी कर दिया. 14 इंच व्यास वाली यह पाइपलाइन पश्चिम बंगाल, झारखंड तथा बिहार से गुजरती है.