संसद से पीएम मोदी ने अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर को लेकर किया बड़ा ऐलान

1080

केंद्र में दोबारा से सत्ता में आने के बाद से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक के बाद एक करके ताबड़तोड़ फ़ैसले लिए हैं. अभी हाल ही में उन्होंने पर फैसला लिया था, उससे पहले केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने धारा 370 को हटाने का फैसला लिया था. अब संसद से पीएम मोदी ने राम मंदिर को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है. जी हाँ राम मंदिर पर फैसला आने के बाद से मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट बनना रह गया था.

जानकारी के लिए बता दें राम मंदिर पर फैसला आने के बाद से ट्रस्ट बनने में देरी को लेकर सवाल उठने लगे, जिसके जवाब में आज 5 फरवरी को पीएम मोदी ने संसद से बड़ा ऐलान कर दिया है. उन्होंने अयोध्या में प्रभु श्री राम मंदिर बनवाने के लिए ट्रस्ट की घोषणा कर दी है. जैसे ही पीएम मोदी ने ये ऐलान किया वैसे ही सांसदों ने संसद में जय श्री राम के नारे लगाने शुरू कर दिए.

संसद में अपनी बात रखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि “अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए हमने एक योजना तैयार की है। इसके लिए एक ट्रस्ट बनाया गया है जिसका नाम ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र होगा.’ अब उनके इस ऐलान के बाद जल्द ही निर्माण कार्य शुरू हो सकता है. पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने अयोध्या कानून के तहत 67.70 एकड़ भूमि राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र को हस्तांतरित करने का फैसला लिया है.

गौरतलब है कि बुधवार को लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही पीएम मोदी ने लोकसभा को बताया कि उच्चतम न्यायलय के फ़ैसले के आलोक में सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन देने के संबंध में यूपी सरकार से आग्रह किया था जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने मंजूरी दे दी है. पीएम मोदी ने कहा कि आज इस सदन और पूरे देश को यह जानकारी देते हुए ख़ुशी हो रही है कि भगवान राम के मंदिर निर्माण और अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना को तैयार किया गया है. उन्होंने कहा कि ‘‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया, यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा.’’