पीएम मोदी ने बदला Dictionary अभिनन्दन का अर्थ

491

अभिनन्दन के हौसले को देख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब अभिनन्दन का अर्थ dictionary में बदल जाएगा

अभिनन्दन की वापसी के बाद से ही उनके बारे में तमाम किस्से सुनाए जा रहे है। लोग उनके बारे सुनना चाहते है और जानना चाहते है। हर कोई उनकी वीरता की तारीफ कर रहा है। ऐसे में शनिवार को पीएम नरेन्द्र मोदी ने विज्ञान भवन में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए हमारे विंग कमांडर अभिनन्दन वर्तमान के साथ हमारे देश के सैनिकों के बहादूरी की तारीफ की और हमारे देश को उभरता पराक्रमी देश बताया .

यह कितना अच्छा लगता है न कि एक देश का प्रधानमंत्री देश के हर नागरिक के उन्नति `के बारे में सोचता है और सैन्य शक्ति को भी सराहता है . अगर किसी भी काम को अच्छे से सराहा जाए तो लोगों का मनोबल बढ़ता है और काम करने की लगन भी बढती है.

यह बात हम आपको इसलिए बता रहे है क्योंकि कुछ ऐसे ही हमारे सैनिकों के वीरता को सराहा है हमारे प्रधानमंत्री ने. ये बात आपको इसलिए भी जानना जरूरी है ताकि आप समझ सके इस देश सबकी अपनी अपनी भूमिका है। किसी की नागरिक के रूप में, किसी की सैनिक तो किसी की प्रशासक के रूप में। सब अपनी अपनी भूमिकाओ को निभाये देश तभी आगे जाएगा। हमने रिपोर्ट पीएम के भाषण के उन अंशो को तैयार करके बनाई है। यहां से ध्यान से सुनियेगा।

भारत “नंदन” की भूमि है “अभिनन्दन” की भूमि है . यहाँ के वीरता की गाथा न सिर्फ भारत में बल्कि पुरे विश्व में गाई जाती है. और एक बार फिर विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने अपने शौर्य का परचम लहराया इनके जाबाज़ी के चर्चे हर जगह हो रहे हैं. पूरी दुनियां उनके बहादूरी के लिए उन्हें शाबाशी दे रही है .वहीं हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विंग कमांडर अभिनन्दन की जम कर तारीफ की. और यह कहा कि अब डिक्शनरी में अभिनन्दन का अर्थ बदल गया है. दरअसल अभिनन्दन का अर्थ होता है congratulations लेकिन अब इसका कुछ अलग अर्थ होगा .हमारे देश में इतनि ताकत है कि हम शब्दों का अर्थ बदल सकते है .

विज्ञान भवन में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह कहा कि अब भारत बतौर पराक्रमी देश के रूप में उभर रहा है और दुनिया भर में इसकी चर्चा है . भारत के हर कदम पर दुनिया की नज़र है. उन्होंने ने यह भी कहा की अब हमने मौन बैठना छोड़ दिया है हर वार का करारा जवाब देना आता है हमें .उन्होनें हमारे सैनिकों के बहादु री की भी तारीफ की और यह कहा कि हमारे सेना से पाकिस्तान को डर लगता है तो लगे और यही खौफ आतंकवादियों में भी बरकरार रहेगा.

विंग कमांडर अभिनन्दन ने नाही सिर्फ अपने बहादूरी का लोहा मनवाया साथ ही पाकिस्तान के गिरफ्त में होने के बावजूद सैयम का भी परिचय दिया . जब भी हमारे देश पर संकट मंडराता है तो हमारे योद्धा इससे हमारा बचाव करते है . इसी बात पर एक पंक्ति मुझे याद आ रही-
“धरा जब जब विकल होती ,
मुसीबत का समय आता
किसी भी रूप में कोई
महा मानव चला आता”

यह पंक्ति तो लोग कृष्ण और राम के लिए लोग उपयोग करते थे . लेकिन हमारे विंग कमांडर अभिनन्दन ने भी हमारे देश की रक्षा कर महामानव जैसा काम किया है . तो क्यों न हम उनके वीरता का गुनगान करें