जब बीजेपी के संस्थापक नारायण सिंह केसरी पर पहुंचा पीएम मोदी का फोन तो उन्होंने कह डाली ये बातें

देश में इस समय कोरोना हर दिन अपने पाँव पसारता जा रहा है. भारत में अब कोरोना के मरीजों की संख्या 23 हजार के पार हो गयी है. केंद्र सरकार ने कोरोना के चलते लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए आगे बढ़ा दिया. सरकार के पास अभी लॉकडाउन के अलाव इस बीमारी से बचने का कोई चारा नहीं है. पीएम मोदी खुद जनता से लॉकडाउन के नियमों का पालन करने का आग्रह कर चुके हैं.

जानकारी के लिए बता दें पीएम मोदी ने खुद लॉकडाउन के लोगों को फायदे बताये साथ ही ये भी बताया कि लॉकडाउन की वजह से ही आज भारत की स्थिति अन्य देशों के मुकाबले काफी बेहतर है. लॉकडाउन के दौरान इस समय अधिकतर लोग अपने घरों में ही समय व्यतीत कर रहे हैं. वहीँ डॉक्टर, पुलिसकर्मी और सफाईकर्मी अपनी जान हथेली पर रखकर देश की सेवा में लगे हुए हैं.

इतना ही नहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लॉकडाउन के दौरान घर पर ही समय व्यतीत कर रहे हैं और कई काम कर रहे हैं. इतना ही नहीं इस दौरान वह अपने और पार्टी से जुड़े पुराने लोगों को याद कर उनसे बातचीत कर रहे हैं. पीएम मोदी ने खुद कई पुराने नेताओं से बातचीत कर उनका हालचाल जाना. अभी हाल ही में उन्होंने इंदौर के पूर्व सांसद और बीजेपी के संस्थापक नारायण सिंह केसरी से बात की और कोरोना से निपटने के लिए उनके सुझाव भी मांगे. 3 मिनट की बातचीत में पीएम मोदी ने उन्हें सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों से भी अवगत कराया और उनके सुझाव भी मांगे.

गौरतलब है कि नारायण सिंह केसरी ने भी मध्यमवर्ग और मजदूर वर्ग की ओर प्रधानमंत्री का ध्यान आकर्षित करवाया और बताया कि इस संकट के दौर में ये लोग किस तरह परेशान हैं. उन्होंने कहा कि उन लोगों को राशन और खाने-पीने की वस्तुओं के लिए काफी परेशानियाँ झेलनी पड़ रही हैं. उन्होंने कहा कि समस्या से निपटने के लिए सरकार को प्रभावी कदम उठाने की जरुरत है. नारायण सिंह केसरी दादा भाजपा के संस्थापक रहे हैं और वे 2 बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं.