पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग से मिला इशारा, 3 मई के बाद क्या होगा

104

कोरोना की वजह से एक तरफ कामकाज पूरी तरह ठ’प हो गया है. दूसरी तरफ कोरोना का क’हर भी बढ़ता ही जा रहा है सबसे ज्यादा कोरोना की वजह से महाराष्ट्र में हा’हाकार मचा हुआ  है. वही दिल्ली में भी हाल’त बे’हाल ही है. राजस्थान में भी आंकड़ा दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है. जिसकी वजह से हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार ने लॉक डाउन की अवधि को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया था और लोगो से अपील की थी वो घरो में रहे और सोशल डि’स्टेंसिंग का पालन करे. ताकि कोरोना से जं’ग जी’ती जा सके.

इसी के बीच सोमवार को पीएम मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. जिसमें लॉक डाउन को लेकर चर्चा की और कहा कि इस पर एक रणनीति बना कर सभी सरकारों को काम करना होगा. पीएम मोदी ने कहा कि सभी राज्य सरकारे नीति बनाये. किस तरीके से लॉक डाउन को खोला जाये. इसमें रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में राज्य अपने इलाकों में लॉकडाउन को खोला जा सकता है और जहाँ ज्यादा केस है वहां पर लॉक डाउन जारी रहेगा. बाकी जगहों पर जिलेवार राहत दी जा सकती है.

इसके अलावा उन्होंने बैठक में कहा कि अर्थव्यवस्था को लेकर टेंशन न लें, हमारी अर्थव्यवस्था अच्छी है. गौरतलब है कोरोना का कहर जमकर देश भर में हाहाकार मचा रहा है. जिसकी वजह से 170 जिलो को रेड जोन किया गया है. जिसकी वजह से लोगों को भी दिक्कते हो रही है. वहीं पीएम मोदी ने सभी राज्य सरकारों की तारीफ करते हुए कहा कि सरकारों ने अच्छे से काम किया है. जिससे हमें लाभ मिला है.

पीएम मोदी के साथ हुई बैठक में कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों का प्रस्ताव था कि लॉक डाउन को एक साथ हटाना सही नहीं होगा इसे और बढ़ाने और फेज़ वाइज हटाना की बात कही गयी. जाहिर है हालातों को देखते हुए कोई भी राज्य सरकार नहीं चाहती की लॉक डाउन को एक साथ हटाया जाए.