PM मोदी ने कोसी और मि’थिलां’चल के जोड़े दिल के ता’र, अब होगा सफ़र और आसान

94

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले ही पीएम मोदी ने बिहारवासियों को कई सौगा’ते देना शुरू कर दिया है और ये सि’लसिला आगे भी चलेगा. जिसके बीच पीएम मोदी ने कोसी नदी पर क्ष’तिग्र’स्त हुए पुल को आज उद्घा’टन कर बिहारवासियों को सौगा’त दी है. बता दें बिहार में कोसी नदी पर बना पुल क्ष’ति’ग्र’स्त हो गया था. ये पुल 1934 में भू’कं’प आने के बाद गि’र गया था. जिसके बाद इस रेल मार्ग को बं’द कर दिया था. लेकिन उसको अब दोबारा से बनाकर तैयार कर लिय़ा गया है. कोसी नदी पर बने रेल पुल से ट्रेनों का परि’चा’ल’न शुरू होने के बाद सबसे ज्यादा लाभ दरभंगा, मधुबनी, सुपौल और सहरसा जिले में रहने वालों को होगा.

जानकारी के लिए बता दें मि’थिलां’चल को जोड़ने वाले इस पुल के उद्घा’टन के बाद पीएम मोदी ने अपने संबो’धन में कहा कि रेल कने’क्टविटी के क्षेत्र में आज इतिहास रचा गया. इन प्रोजे’क्ट्स से बिहार के साथ-साथ पश्चिम बंगाल और पूर्वी भारत के लोगों को इससे लाभ मिलेगा. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 5-6 साल में हमने सम’स्याओं का हल ढूं’ढा है. 4 साल पहले उत्तर-दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले दो म’हासे’तु को शु’रू किया गया. पीएम ने कहा कि भूकं’प की आ’पदा ने मिथि’ला और कोसी को अलग किया था, आज कोरोना महा’मारी के बीच इन दोनों को फिर से जोड़ा जा रहा है. ये प्रोजे’क्ट अटल जी और नीतीश बाबू का ड्री’म प्रो’जेक्ट है.

इतना ही नहीं पीएम मोदी ने लालू यादव पर निशा’ना सा’धते हुए कहा कि अटल जी की सरकार जाने के बाद इस प्रोजे’क्ट की र’फ्ता’र कम हो गई. अगर दूसरी सरकार को बिहार के लोगों की फि’क्र होती और जो लोग तब रेल मंत्री थे उन्हें अगर चिं’ता होती तो काम पहले ही हो जाता. लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और आज ये काम दृ’ढ़ नि’श्चय और नीतीश जैसा साथी के होने से ही सब’कुछ संभ’व हुआ है.