CAA के खिलाफ हिं’सा भड़काने वाले संगठन PFI का सदस्य गिरफ्तार, आम आदमी पार्टी से है संबंध

1189

CAA के खिलाफ यूपी में हिं’सा भड़काने वाले संगठन PFI के एक और सदस्य को पुलिस ने गि’रफ्तार किया. बिजनौर के रहने वाले शोएब की गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ है कि वो PFI के लिए चंदा उगाही का काम करता था और वो आम आदमी पार्टी में अल्पसंख्यक मोर्चा का जिलाध्यक्ष भी रह चूका है. PFI के एक और सदस्य नासिरुद्दीन के साथ मिलकर वह लोगों से चंदा वसूल करता था. पुलिस को उसके पास से चंदा वसूलने वाली बुकलेट मिली है. पुलिस अब ये जानकारी जुटा रही है कि उसने कितने पैसे इकट्ठे किये और उन पैसों का उसने कहाँ इस्तेमाल किया.

बिजनौर एसपी लक्ष्मीनिवास मिश्र के अनुसार CAA के खिलाफ प्रदर्शनों में जब हिं’सा भड़की तब पुलिस ने हिं’सा भड़’काने वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी और जांच में जुटी थी. जांच के दौरान ये बात सामने आई कि PFI लोगों को पैसे बांटता था और हिं’सा भड़काने के लिए उकसाता था. उसी जांच में सामने आया कि शोएब नाम के शख्स ने नाजिम और कारी नासिरुद्दीन उर्फ कारी नासिर के साथ मिलकर काजीपाड़ा की मस्जिद और उसके आसपास भड़’काऊ पोस्टर चिपकाए थे. इसके अलावा उसने मुस्लिम बहुल इलाके में घर घर जा कर भड़’काऊ पोस्टर बांटे थे जिसके बाद CAA विरोधी प्रदर्शनों के दौरान बिजनौर में हिं’सा भड़क उठी थी.

आपको बता दें कि ED की जांच में खुलासा हुआ था कि CAA विरोधी प्रदर्शनों के नाम पर उत्तर प्रदेश को हिं’सा की आग में झोंकने के लिए PFI ने करीब 134 करोड़ रुपये बांटे थे. PFI ने कई बड़े बड़े लोगों को भी पैसे बांटे में. उसमे कांग्रेस नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील कपिल सिब्बल का भी नाम था.