रॉबर्ट वाड्रा पर शिकंजा कसने की तैयारी, हिरासत में लेकर पूछताछ करने के लिए ED ने हाईकोर्ट में डाली याचिका

बेनामी संपत्ति मामले में प्रियंका गाँधी के पति रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही. केंद्रीय जांच एजेंसी ED अब उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाहती है. इसके लिए ED की तरफ से राजस्थान हाई कोर्ट में अर्जी पेश कर दी गई है. कोर्ट इस मामले में सोमवार को सुनवाई करेगा. ED रॉबर्ट वाड्रा के साथ साथ महेश नागर को भी हिरासत मे ले कर पूछताछ करना चाहती है.

मामला 2007 का है. 2007 में वाड्रा ने स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से एक कंपनी की शुरुआत की थी. रजिस्ट्रेशन के वक्त बताया गया था कि ये कंपनी रेस्टोरेंट, बार और कैंटीन चलाने जैसे काम करेगी. वाड्रा और उनकी मां मौरीन इस कंपनी के डायरेक्टर बनाए गए. बाद में कंपनी का नाम बदलकर स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी लिमिटेड लायबिलिटी कर दिया गया. वाड्रा की इस नई कंपनी ने 2012 में जोधपुर के कोलायत क्षेत्र में कुछ दलालों के जरिए 270 बीघा जमीन 79 लाख रुपए में खरीदी. लेकिन ये जमीन फर्जी कागजात के जरिये बेची गई. दरअसल बीकानेर में भारतीय सेना की महाजन फील्ड फायरिंग रेंज के लिए जमीन आवंटित की गई थी. यहां से विस्थापित हुए लोगों के लिए दूसरी जगह पर 1400 बीघा जमीन आवंटित की गई थी, लेकिन कुछ लोगों ने इस जमीन के फर्जी कागजात तैयार करवाकर वाड्रा की कंपनी को बेच दिए. वाड्रा ने इन्ही दलालों के जरिये और भी जमीन खरीदने की कोशिश की. फर्जी तरीके से जमीन के बेचने का मामला उजागर होने से पहले वाड्रा की कंपनी ने इस जमीन को 5 करोड़ रुपये में बेच दिया.

बीते दिनों ED न्यू रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ की थी. जब कई बार पूछताछ के लिए बुलाये जानर के बाद भी वाड्रा ED के सामने नहीं पहुंचे थे तो ED उनके घर तक पहुँच गई. बाद में वाड्रा ने सहयोग करने की बात कही और ED के दफ्तर पूछताछ के लिए पहुंचे थे.

Related Articles