सुषमा स्वराज के मंत्रिमंडल में शामिल न होने से कुछ इस तरह भावुक हुए लोग

567

गुरुवार को pm मोदी ने और उनके नेताओं से शपथ ली, सबके मन में ये सवाल चल रहा था की अमित शाह मोदी की कैबिनेट का हिस्सा होंगे की नहीं ,पर जब उन्होंने शपथ ली तो सभी स वालों के जबाव मिल गए ,लेकिन दूसरी तरफ जब सुषमा स्वराज वहां पहुची तो सब यही सोच रहे थे कि क्या सुषमा जी मोदी की मंत्री मंडल के साथ उपर बैठेंगी, या फिर नहीं ,पर वो वहां नै बैठी जहाँ pm मोदी और उनके मंत्री बैठे थे. पूरे कार्य कर्म के समापन के बाद सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि ,प्रधान मंत्री जी – आपने 5 वर्षों तक मुझे विदेश मंत्री के तौर पर देशवासियों और प्रवासी भारतीयों की सेवा करने का मौका दिया और पूरे कार्यकाल में व्यक्तिगत तौर पर भी बहुत सम्मान दिया. मैं आपके प्रति बहुत आभारी हूँ.

खैर ट्वीट करने के बाद उन्होंने तो pm मोदी को देशवासियों की सेवा का मौका देने का आभार परकट करते हुए धन्यवाद किया, लेकिन उनके इस ट्वीट पर हजारों प्रतिक्रियां आई लोगों ने बड़ी भावुकता से उनके लिए सन्देश लिखे,जिनमे से कुछ हम आपको बताना चाहते है.

एक जाया रंजन नाम की यूजर लिखती है , सुषमाजी आपके कार्यकाल को सदैव सम्मान व कृतज्ञता से भारत याद करेगा। जब भी कोई विदेश की धरती पर मुसीबत में फँसा,आपको याद किया।और जिस तत्परता से आपने हरेक इंसान की मदद की,वो देश की ज़हन में सदैव बसा रहेगा। हमारा सौभाग्य कि आपके उत्कृष्ट कार्यों के गवाह बने और प्रेरित हुए।

तो वही एक यूजर ने उनके हर रूप की तारीफ करते हुए लिखा है कि आपके आत्मविश्वास से भरे शब्द कानों में गूँजते हैं

आप जैसा सामयिक जवाब देने वाला वक्ता विरला ही होगा साथ में आपका अपने देश के प्रति समर्पण और अपने परिवार की दायित्व निभाते हुए अपने सभी त्योहार खासकर करवाचौथ जैसे त्योहार विधिवत मनाना मुझे बहुत भाता है आप सदा हमारी यादों में रहेंगी

तो वही एक और यूजर लिखते है,कि  आदरणीय आप ने जिस तरह वैश्विक स्तर पर  भारत की साख को बढ़ाया है वो बहुत ही प्रशंसनीय है,और हम इस पर गर्व करते हैं। आपका अथाह  हिंदी प्रेम ,परिश्रम, कर्तव्यनिष्ठा और देश के प्रति समर्पण आज के समय में अतुलनीय है।आप खुश रहें, स्वस्थ रहें, ईश्वर से यही मंगलकामना है।

तो एक सागर नाम क यूजर लिखते है कि Ab passpost ka matter hua toh kisko tag karna?

जो question इन्होने इस ट्वीट में उठाया है वो कई लोगों के दी में चल रहा होगा क्यों की सुषमा जी ने हमेशा विदेशों में परेशान ,या मुसीबत में फंसे भारतीयों की मद्दद के लिए हमेशा आगे रही, उन्होंने कभी भी अपने कामों को जाति धर्म के अधार पर नहीं बंटा,और इसका एक्साम्प्ल तब हम सब ने देखा था,जब पाकिस्तान से अहिद अंसारी वापस आये थे,6 साल बाद जब वो भारत वापस आये थे तो सुषमा जी से गले लग कर खूब फफाक फफाक कर रोये थे,यहाँ तक उनके परिवार वालों ने ये कहा था कि अगर सुषमा जी ना होती तो शायद वो अपने बेटे को कभी वापस नहीं पा पाते..

यही वो काम है जिनकी वजह से सुषमा जी को याद किया जायेगा,जो उन्होंने अपने कार्य काल के दौरान किये थे .

कैर रिएक्शन खोजते समय हमें प्रियंका चतुर्वेदी का भी एक ट्वीट मिला , जो अब शिवसेना में शामिल हो गयी है ,प्रियंका ने ट्वीट में लिखा था कि सुषमा स्वराज को देश याद करता रहेगा. उन्होंने ट्वीट में लिखा ‘नई कैबिनेट में न होने पर देश आपको याद करेगा. हमेशा एक भावशून्य से दिखने वाले मंत्रालय में आपने भावनाओं और मूल्यों को तरजीह दी’.

खैर ये वही प्रियंका चतुर्वेदी है जिन्होंने सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण को सजावटी मंत्री बताया था . प्रियंका के मुताबिक़ मोदी जी ने भले जी सुषमा स्वराज को विदेश मंत्री और निर्मला को रक्षा मंत्री बना दिया हो लेकिन इन दोनों ही मंत्रालयों पर पूरा कंट्रोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ही है.

लेकिन इनदोनों  महिला मंत्रीयों ने बखूबी अपना काम किया और आज उसकी सराहना पूरा देश और विदेश कर रहा है ,खैर ये खुद सुषमा जी का फैसला है कि वो अब अपनी हेल्थ की वजह से ये कार्य भार नहीं सम्भाल पाएंगी ,पर उनके काम के लिए हमेशा उनको यद् किया जायेगा ,और स जयशंकर से भी ऐसे ही काम करने की उम्मीद है ,और कही ना कहै मौका मिलने की बाद ही कोई साबित कर पता है कि वो कैसा काम करेगा.