लखनऊ में लॉकडाउन को नजरअंदाज कर युवक बेच रहे थे ये सामान, पुलिस ने भेजा हवालात

2076

कोरो’ना वायरस आज हर जगह लगभग फ़ैल चूका है. उत्तर प्रदेश में भी कोरो’ना को एक हद्द तक योगी आदित्यनाथ नें कंट्रोल कर रखा था. लेकिन कुछ जाहिल जमातियों के अचानक से फ़ैल जाने के बाद यूपी के अंदर कई जिलों में कोरो’ना से संक्रमित मरीज सामने आये हैं. अगर बात करें उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की तो यहाँ पर कोरो’ना मरीजों की संख्या कम होती नजर आ रही थी. लेकिन म’रकज़ के जमा’तियों ने यहाँ पर भी हड’कंप मचा दिया.

लखनऊ में कुछ लोग तो लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन कर रहें हैं. पर कुछ लोगों को लॉकडाउन एक खेल लगता है या फिर या फिर मजाक लगता हैं. लेकिन हालत ख़राब होने के बाद लखनऊ पुलिस ने लॉकडाउन का क’ड़ाई से पालन करवाना शुरू कर दिया हैं. इसी बीच लखनऊ में लॉकडाउन को नजरअंदाज करते हुए दो युवक बाइक पर शंकर चौराहे के पास समोसा बेच रहे थे. उन्हें समोसा बेचते देखकर कई लोग वहां पहुंच गए हैं. देखते ही देखते वहां पर भी’ड़ जमा हो गई . जब पुलिस ने देखा दोनों को तो उनको ग्रिफ्तार कर के जे’ल भेज दिया है. पुलिस ने दोनों के खि’लाफ आईपीसी की धारा 188 और 269 के तह’त मामला द’र्ज कर इन्हें गिर’फ्तार किया है.

आपको बता दें कि कोरो’ना वायरस का संक्र’मण रोकने के लिए लखनऊ में काफी सख्ती है. लखनऊ में कई इलाके सील किए गए हैं. कोरो’ना कि वजह से पुलिस लोगों को कह रही है कि वे बिना वजह के घरों से बाहर न निकलें, लेकिन कुछ लोग पुलिस की सलाह को लगातार दरकिनार करते हुए नजर आ रहें हैं. योगी आदित्यनाथ ने अब ऑफिस जाने वाले लोगों के लिए समय सीमा निश्चित कर दी हैं. उसका कारण ये था कि लोग पास बनवा कर रोड पर वक़्त बे वक़्त घुमा करते थे. जिसको देखते हुए योगी आदित्यनाथ ने ये फैसला लिया था और इन सबके बीच आम जनता का भी निकलाना लखनऊ के अंदर काफी कम है क्योकि पुलिस की चौकसी काफी ज्यादा बढ़ा दी गई हैं. लखनऊ में लोगों को लॉक डाउन का पालन कड़ाई के साथ करवाया जा रहा हैं.