पायल रोहतगी को नहीं मिली जमानत, कोर्ट ने भेज दिया जेल

1501

जवाहर लाल नेहरू और उनके पिता मोतीलाल नेहरू पर आपत्तिजनक टिपण्णी करने के बाद राजस्थान पुलिस द्वारा गिरफ्तार की गई अभिनेत्री पायल रोहतगी की मुश्किलें बढ़ गई है. कोर्ट ने पायल रोहतगी को 24 दिसंबर तक जेल भेज दिया है.

पायल ने अपने यूट्यूब चैनल पर पोतव प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और उनके पिता के बारे में कुछ सनसनीखेज खुलासे किये थे जिसके बाद यूथ कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. पायल को आईटी ऐक्ट की धारा 66 और 67 के तहत अहमदाबाद से गिरफ्तार किया था.

पायल ने खुद ही अपनी गिरफ्तारी की जानकारी ट्वीटर पर दी थी. उन्होंने अपने ट्वीट में गृहमंत्री और पीएमओ को टैग भी किया था. पायल को जेल हो जाने के बाद उनके पति संग्राम सिंह ने भी पीएम मोदी से मदद मांगी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, “क्या कांग्रेस रूलिंग स्टेट में ये अभिव्यक्ति की आजादी है? सर कृपया इस तरफ ध्यान दीजिए.”

हालाँकि कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने पायल रोहतगी की गिरफ़्तारी को गलत कदम बताया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘इसमें संदेह नहीं कि उनकी (पायल रोहतगी) की टिप्पणी झूठी और घटिया है. लेकिन उन्हें गिरफ्तार करना समझदारी नहीं. अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मतलब है कि बिना पुलिस हस्तक्षेप के उन्हें बेवकूफाना बातें करने देना. उन्हें रिहा कर देना चाहिए.’

पायल की गिरफ्तारी पर बॉलीवुड में भी महाभारत शुरू हो गया है. फिल्म निर्देशिका रीमा काटगी ने कहा कि वो पायल के बयानों से सहमत नहीं है लेकिन इसके लिए उन्हें हिरासत में रखना लोकतंत्र के लिए सही नहीं. अभिनेत्री कोयना मित्र ने भी इसे गलत बताते हुए कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है.