2019 में हुई थी शादी,लेकिन इस वजह से अब भारत लौटी पाकिस्तानी दुल्हन

320

राजस्थान के जैसलमेर जिले के बैया गांव मैं रहने वाले विक्रम सिंह की दुल्हन ढाई साल बाद पाकिस्तान से भारत लौटी है. 2019 में, विक्रम सिंह की शादी पाकिस्तान के सिंध इलाके में रहने वाली निर्मला कंवर के साथ हुई थी, लेकिन पुलवामा हमले और बालाकोट हवाई हमले के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों में खटास आ गई, जिसकी बदौलत दुल्हन वीजा न मिलने के कारण भारत नहीं आ सकी। . शुक्रवार को विक्रम सिंह की पत्नी निर्मला कंवर अटोरी बॉर्डर से भारत के बाड़मेर पहुंचीं। हालांकि, विक्रम सिंह के अलावा नेपाल सिंह और महेंद्र सिंह की भी पाकिस्तान में शादी हुई थी, लेकिन दोनों की दुल्हनियां मार्च में भारत लौट आईं।

केंद्रीय मंत्री की पहल से भारत लौटीं दुल्हनें
केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी की पहल पर नौ मार्च को बिया निवासी नेपाल सिंह की पत्नी अटोरी और गिरब निवासी महेंद्र सिंह की पत्नी सीमा से भारत आई थीं. उस समय, निर्मला कंवर के पासपोर्ट मैं तकनीकी खामियों के कारण भारत लौटने की अनुमति नहीं थी। विक्रम सिंह और निर्मला कंवर के पुत्र राजवीर सिंह, निर्मला कंवर की बहन के साथ भारत लौटे थे।

2019 में पाकिस्तान मैं तीन बरात गई थी
राजस्थान से पहले भी पाकिस्तान में रिश्ते होते रहे हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच बारात का आना-जाना लगा रहता है. जनवरी 2019 में बाड़मेर-गिरब निवासी महेंद्र सिंह की बारात और इसलिए जैसलमेर बैया निवासी दो भाइयों विक्रम सिंह और नेपाल सिंह की बारात ने थार एक्सप्रेस से पाकिस्तान के सिंध के क्षेत्र में गई थी. तीनों ने पाकिस्तान में शादी भी की। तीनों दूल्हे करीब 3-4 महीने पाकिस्तान में रहे। दोनों देशों के रिश्तों में दरार की वजह से दुल्हनों को वीजा नहीं मिला और इसलिए बारात बिना दुल्हन के लौट आई।