पाकिस्तान की हुई फजीहत, अमेरिका से परमाणु की चोरी करते पकडे गए पांच पाकिस्तानी

1632

पाकिस्तान दुनिया भर में परमाणु की चोरी के लिए बदनाम है. उसके वैज्ञानिक ए क्यू खान ने चोरी करके ही परमाणु हथियार बनाने की तकनीक हासिल की थी. उन्होंने कनाडा से परमाणु तकनीक चुराकर न केवल पाकिस्तान में न्यूक्लियर हथियार बनाए बल्कि उत्तर कोरिया, लीबिया और ईरान जैसे देशों को बेच भी दिया. इस बार फिर पाकिस्तानियों को परमाणु चोरी करते हुए पकड़ा गया है. इन पाकिस्तानियों को अमेरिका ने पकड़ा है. ये अमेरिकी तकनीक चोरी कर रहे थे.

अमेरिका ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान के रावलपिंडी स्थित एक कंपनी जो ‘बिजनस वर्ल्ड’ से जुड़ी हुई है, उसके पांच कर्मचारियों ने पाकिस्तान के न्यूक्लियर और मिसाइल प्रोग्राम के लिए अमेरिकी तकनीक की स्मगलिंग की है. अमेरिका के जस्टिस डिपार्टमेंट ने कहा है कि ये पांचो पाकिस्तानी कनाडा, यूके और हांगकांग में रहते हैं और उन्होंने अपनी कंपनी के जरिये दुनिया भर से स्मगलिंग का नेटवर्क चलाते थे.

यह कंपनी अमेरिका से सामानों का निर्यात बिना एक्सपोर्ट लाइसेंस के ही करवाती है जो अमेरिकी कानून का खुला उल्लंघन है. इन पांचो आरोपियों के नाम है – मुम्मद कामरान वली, मुहम्मद अहसान वली, हाजी वली मुहम्मद शेख, अशरफ खान मुहम्मद और अहमद वहीद. इनसब पर इंटरनैशनल एनर्जी इकनॉमिक पावर्स ऐक्ट और एक्सपोर्ट कंट्रोल रिफॉर्म ऐक्ट के उल्लंघन की साजिश रचने का आरोप लगा है. अमेरिका का कहना है कि ये घटना अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे की स्थिति है. क्योंकि जिस कंपनी से ये पांचो आरोपी जुड़े हैं वो पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम से जुड़ी हुई है.