मुफ्त में मिल रही है पाकिस्तान मुर्दाबाद लिखी टाइल्स, शौचालय में कर सकेंगे इस्तेमाल

741

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से पूरे भारत मे विरोध के सुर तेज़ी से उठ रहे है। हर गली मोहल्ले से पाकिस्तान मुर्दाबाद और हिंदुस्तान जिंदाबाद जैसे नारे आसमान में गूंज रहे है।

भारतीय क्रिकेट टीम ने भी वर्ल्ड कप में पाक के साथ ना खेलने को लेकर आईसीसी को चिट्ठी लिखने जा रही है। बॉलीवुड सेलिब्रटी भी लगातार सामने आकर पाकिस्तान को जमकर गरिया रहे है। हालांकि देश मे डर लगने की बात करने वाले लोग अभी भी अपने आपको इस हमले का विरोध करने से दूर ही रखे हुए है।आपने अफगानी का वो वीडियो तो देखा ही होगा जिसमें वो हंसते हंसते पाकिस्तान की बेज्जती कर रहा है।

इन सबके बीच गुजरात की मोरबी सिरामिक फैक्ट्री में विरोध करने का सबसे अनूठा तरीका ढूंढा है। आगे बढ़े उससे पहले आप ये जान लीजिये की इस फैक्ट्री टाइल्स बनाने का काम होता है। ह्म्म्म,अब समझिए कि कैसे ये दूसरों से अलग हटके पाकिस्तान का विरोध कर रहे है।


इस फैक्ट्री में फिलहाल पाकिस्तान मुर्दाबाद और पाकिस्तान के झंडे वाली टाइल्स बनाई जा रही है। और मज़ेदार बात ये है कि इन टाइल्स को घरों में लगाने के लिए नही बनाया जा रहा बल्कि इन्हें सार्वजनिक शौचालयों में इस्तेमाल के लिए मुफ्त में दिया जा रहा है।है ना,पाकिस्तान के विरोध का ये दिलचस्प तरीका ।
वैसे इस फैक्ट्री के लोगो का कहना है कि हम पाकिस्तान का विरोध करते है और आगे भी करते रहेंगे। इसके अलावा वो कहते है ये टाइल्स जो टॉयलेट में लगाई जाएगी वही पाकिस्तान की असल औकात है। जैसे जैसे लोगो को डिमांड बढ़ती जाएगी इसका उत्पादन बढ़ाने से भी गुरेज नही किया जाएगा।


ये सब फैक्ट्री से जुड़े लोगों का कहना है।
वैसे ये मुफ्त की टाइल्स सिर्फ मोरबी वालो के लिए ही नही है बल्कि फैक्ट्री के लोगो का कहना है कि जहां से भी डिमांड आएगी उनको मुफ्त की टाइल्स दी जाएगी। 
भारत में फिलहाल पुलवामा आतंकी हमले का विरोध पुरजोर तरीके से किया जा रहा है।पाक पीएम इमरान खान भले ही कह चुके हो कि हमला पाक की धरती से नही हुआ लेकिन वास्तुविक्ता यही है कि हमले को अंजाम पाक की धरती से ही दिया गया था। कल इन्ही सबूतों को लेकर the chaupal एक वीडियो भी बना चुका है।

ख़ैर,भारत सरकार भी साफ साफ शब्दो मे कह चुकी है कि पाकिस्तान आतंक को पनाह देने वाला देश है। सरकार की तरफ कहा गया है कि पाकिस्तान को बेपर्दा करने में कोई कोरो कसर बाकी नही छोड़ी जाएगी। 
 पाक वालो हम तो बस यही कहेंगे कि 
 बोया पेड़ बाबुल का तो आम कहाँ से पाओगे और हरकत नही सुधरोगे तो भारत वालो से बार बार यूँ ही बेज्जती पाओगे।