पाक को क्यों हो रही , जैश की इतनी फ़िक्र

356

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बताया की पुलवामा हमले में जैश-ए-मोहम्मद का कोई हाथ नहीं

एक तरफ भारत पर हुए आतंकी हमले को लेकर पूरी दुनिया में हलचल मची हुई है और पाकिस्तान चौतरफा आलोचना झेल रहा है . वहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्री जैश-ए-मोहम्मद का बचाव कर रहे है .कल तक जहाँ जैश ए मोहम्मद  पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ले रहा था  और यह खबर सुर्ख़ियों में थी कि मसूद  अजहर बीमर है और पाकिस्तान चिन्ता में है . लेकिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बीबीसी को एक इंटरव्यू देते हुए कहा कि “पुलवामा हमले में जैश का कोई हाथ नहीं”.अब सोचने वाली बात यह है कि पाकिस्तान क्यों इतना मेहरबान है जैश पर .

कुरैशी के इस इंटरव्यू की जमकर आलोचना हो रही है . उन्होंने साफ़ शब्दों में जैश का समर्थान किया और यह कहा कि हमने जैश से संपर्क किया है और उसने अटैक की जिम्मेदारी नही ली.

जैश-ए-मोहम्मद की पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने पर सवाल पूछा गया तो कुरैशी ने तत्परता से कहा कि उन्होंने ऐसा नहीं किया। कुरैशी ने कहा, ‘जिम्मेदारी लेने को लेकर काफी असमंजस है। हमारे यहां के कुछ लोगों ने जैश के टॉप लीडरशिप से बात की है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि यह हमला उन्होंने नहीं किया।’ जब उनसे यह पूछा गया कि वो कौन लोग हैं, क्या सरकार के लोग है तो जवाब में कुरैशी ने कहा कि नहीं हमारे लोग हैं… ऐसे लोग जो उनके संपर्क में हैं। 

पाक विदेश मंत्री ने एयर स्ट्राइक को लेकर कहा कि भारत जिस आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक कर 300 आतंकियों को खत्म करने की बात कर रहा है, उसके बारे में हमें अभी प्रमाण नहीं दिखे। कुरैशी ने पाक सरकार का बचाव करते हुए कहा कि हमारी सरकार नई मानसिकता की सरकार है। हम किसी भी देश के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा नहीं दे सकते यहां तक कि भारत के खिलाफ भी नहीं। 

जब उनसे यह  पूछा गया  कि क्या आप मानते हैं कि पूर्व पाक सरकारों ने ऐसी गलती की है तो कुरैशी सवाल को टालते हुए अपनी सरकार के बचाव में उतर गए। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार नई सरकार है और यह नया पाकिस्तान है। पाकिस्तान में आतंकियों के बसे होने को लेकर भी कुरैशी ने सारा दोष मीडिया पर डाल दिया। उन्होंने कहा कि भारत में पाकिस्तान के खिलाफ गैर-जिम्मेदाराना तरीके से रिपोर्टिंग होती है। 

उन्होंने भले ही भारतीय मीडिया पर दोष मड़ दिया लेकिन कही न कहीं उनको भी मालूम है कि गलती किसकी है . ये कहा जाता है “अपनी गलती किसी को नहीं दिखती ” मसलन पाकिस्तान का भी मिजाज़ कुछ ऐसा नज़र आ रहा . तभी तो जहाँ कल तक  पाकिस्तान के विदेशमंत्री मसूद अजहर के बीमारी का हवाला दे रहे थे वहीं आज उसके बचाव में उतर गए है .गौरतलब पाक की ये जैश ए मोहम्मद से नापाक दोस्ती कहीं न कहीं महंगी पड़ेगी .