कश्मीर को लेकर पाकिस्तानी पत्रकार फैला रहा था झूठ, खुली तो हो गया शर्मिंदा!

1587

कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट लगातार बढती जा रही है. पाकिस्तान पूरे विश्व के सामने गुहार लगा रहा है लेकिन चीन के अलावा कोई समर्थन में नही आ रहा है. शांत कश्मीर को भडकाने के लिए अभी तक पाकिस्तानी सेना, सरकार झूठ फैला रहे थे लेकिन अब पाकिस्तानी मीडिया भी झूठ फैलाने में अपना योगदान दे रहा है. बड़े बड़े पत्रकार झूठ फैला रहे हैं.

पाकिस्तान मीडिया के बड़े पत्रकार माने जाने वाले हामिद मीर ने एक वीडियो शेयर किया है. twiiter में शेयर किये गये इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कश्मीर में सेना के विरोध में लोग उतर गये हैं और दूर हुडदंगाइयों की भीड़ दिखाई दे रही है. साथ ही साथ ये भी दिखाई दे रहा है कि जवानों ने कुछ लोगों को पकड कर जमीन पर बैठाया हुआ है. इस वीडियो के साथ ही हामिद मीर ने लिखा कि “ये ताजा वीडियो 16 अगस्त का जम्मू-कश्मीर के रिहायशी इलाकों का है. जहां भारतीय सेना ने पत्चाथर बाजों से बचने के लिए चार कश्मीरी युवकों का मानव ढाल बनाकर इस्तेमाल किया. यहाँ कुछ लड़के भारत विरोधी नारे लगा रहे हैं और बहादुर भारतीय सैनिक गालियाँ देकर कह रहे हैं कि अब फेको पत्थर”

हालाँकि सवाल तो यही है कि क्या ये वीडियो सही है? क्या ये वीडियो 16 अगस्त का है? क्या धारा 370 हटाये जाने के बाद कश्मीर में इस तरह की घटनाएँ सामने आई थी? जब इस वीडियो को पड़ताल की गयी तो पता चला कि ये वीडियो बहुत पुराना है. इसका सबूत भी है हमारे पास! दरअसल एक भारतीय न्यूज़ चैनल द्वारा युट्यूब पर ये वीडियो साल 2018 में 19 जून को ही अपलोड किया गया था. मतलब ये वीडियो पुराना है. हालाँकि पाकिस्तानी क्रांतिकारी पत्रकार हामिद मीर ने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है.

सिर्फ हामिद मीर ही नही बल्कि पाकिस्तान के ना जाने कितने लोग कश्मीर के मुद्दे को लेकर लोगों को भडकाना चाहते हैं. वहीँ भारत एक एक कर इन लोगों को एक्सपोज कर रहा है. कश्मीर मुद्दे पाकिस्तान पूरी तरफ से फेल हो चुका है, कहीं से कोई मदद नही मिल पा रही हैं.