ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में भारत का दबदबा, कोरोना की वैक्सीन बनाने वाली टीम का हिस्सा बनी भारतीय वैज्ञानिक और कही ये बात

देश में कोरोना का कहर थम नही रहा है. भारत में अब बेहद तेजी से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है. सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी अब पिछले कई दिनों को देखा जाए तो हर दिन 7 हजार और 8 हजार से ज्यादा मरीज बढ़े हैं. जिसके बाद भारत में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 1 लाख 93 हजार के पार होने वाला है.

जानकारी के लिए बता दें चीन के वुहान शहर से फैला ये वायरस धीरे धीरे पूरी दुनिया में फैल गया. इस वायरस ने अब तक हजारों लोगों की जान ले ली है. दुनियाभर के देश इस वायरस की दवा और वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं. इसी बीच एक बड़ी खबर ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से आ रही है.

दरअसल भारत के लोग इस समय देश ही नही बल्कि दुनियाभर में धूम मचाकर अपना दबदबा कायम कर रहे हैं. कोरोना वायरस पर टीके की खोज कर रही ऑक्सफ़र्ड यूनिवर्सिटी की टीम का हिस्सा भारतीय मूल की वैज्ञानिक भी है. कोलकाता में जन्मी चंद्रबाली दत्ता विश्वविद्यालय के जेन्नेर इंस्टीच्यूट में क्लीनिकल बायोमैन्चुफैक्चरिंग फैसिलिटी में काम करती हैं. जहां कोरोना वायरस के टीके का मानवीय परीक्षण दूसरे और तीसरे चरण में चल रहा है.

ऑक्सफ़र्ड यूनिवर्सिटी की इस टीम का हिस्सा बनी भारतीय मूल की वैज्ञानिक ने कहा है कि वह मानवीय उद्देश्य का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस करती हैं. जिसके नतीजे के लिए दुनियाभर की उम्मीदें जुड़ी हुई हैं.