जम्मू के डोडा में सुरक्षाबलों से मु’ठभेड़ के बीच मा’रा गया हिज्बुल टॉप कमांडर मसूद

27

जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना चुन चुन कर आ’तंकियों को अपना निशाना बना रही है. ताकि जम्मू कश्मीर से आ’तंक का नामोनिशान खत्म हो सके और वहां के लोग एक बेहतर जिंदगी जी सके. दरअसल इस साल में भारतीय सेना ने कई आ’तंकियों को मा’र गिराया है. जिसकी वजह से आतं’की बौखायाए हुए है.

ऐसे में सेना ऑपरेशन ऑलआउट के तरह आ’तंकियों को ढेर करने में कामयाब हो रही है. इसके अलावा आतं’कियों का गढ़ माने जाने वाले त्राल को आ’तंक मुक्त करने के बाद अब जम्मू के डोडा में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है.

वही जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने डोडा में आतंकि’यों के खा’त्मे का ऐलान करते हुए कहा है कि अनंतनाग के खुल चोहार इलाके में पुलिस और लोकल राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवा’दियों को ढेर किया गया.  इनमें से एक लश्कर का जिला कमांडर था. मुठभेड़ में हिजबुल मुजाइद्दीन के कमांडर मसूद को भी ढेर कर दिया गया है. इसके साथ ही जम्मू जोन का डोडा जिला आतंकि’यों से पूरी तरह मुक्त हो गया है. इसके अलावा मसूद के रूप में आखिरी सक्रि’य आतंक’वादी के मा’रे जाने के बाद अब डोडा जिला पूरी तरह आतंक’वाद मुक्त हो गया है.

जाहिर है सोमवार को अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और आतंक’वादियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतं’कवादी मा’रे गए हैं. दरअसल पुलिस को आतं’कियों के होने की खुफिया जानकारी मिली थी. जिसके बाद इस ऑपरेशन को सफल बनाया गया है. वही इस साल में सुरक्षा बलों ने कई आ’तंकियों को गहरी नींद में सुलाया है. साथ ही तीन हफ़्तों के अंदर सुरक्षा बलों ने दो दर्जन से ऊपर आतं’कियों का खा’त्मा भी किया है.