राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में एक और विधायक ने छोड़ा कांग्रेस का साथ

729

राज्यसभा चुनाव का ऐलान हो चूका है और इसी के साथ सियासी दांव पेच भी शुरू हो गए हैं. मध्य प्रदेश में पहले से ही तगड़ा झटका झेल रही कांग्रेस को अब गुजरात में भी जोरदार झटका लगा है. वोटिंग से पहले दो विधायकों ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया. 5 विधायक मार्च में ही पार्टी से इस्तीफ़ा दे चुके हैं. कांग्रेस के दो विधयाकों कल इस्तीफा दिया था और आज एक और विधायक ने कांग्रेस पार्टी को झटका देते हुए कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया हैं.

गुजरात में कांग्रेस पार्टी के अंदर इस्तीफों का सिलसिला जारी है जो की थमने का नाम ही नहीं ले रहा हैं. जिन तीन विधयाकों ने इस्तीफा दिया है वो हैं कर्जन से अक्षय पटेल, कपराडा से जीतू चौधरी और मोरबी से ब्रिजेश मेरजा हैं. ब्रिजेश मेरजा ने आज अपना इस्तीफा स्पीकर को सौंपा.

राज्यसभा चुनाव को लेकर गुजरात में सियासत तेज हो गई हैं. इन सबके बीच विधानसभा के अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने कल कहा था कि ‘दोनों कांग्रेस विधायक बुधवार शाम त्यागपत्र के साथ मेरे पास आए. मैंने उनका सत्यापन किया. उन्होंने मास्क लगाए थे. मैंने उन्हें उसे हटाने के लिए कहा और उनके चेहरों की पहचान करने के बाद फिर उनके इस्तीफे स्वीकार कर लिए. वे अब सदन के सदस्य नहीं हैं.’

कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव के लिए अपने दो उमीदवार शक्ति सिंह गोहिल और भारत सिंह सोलंकी को मैदान में उतारा हैं. आपको बता दें कि  गोहिल को पहली वरीयता का वोट मिलेगा और उनका राज्यसभा के लिए निर्वाचित होना निश्चित है, लेकिन भरत सिंह सोलंकी का भविष्य अ’धर में लटका है. अब केवल प्रबंधन कौशल ही उन्हें निर्वाचित कर सकता है. क्योंकि कांग्रेस की तरफ से रोज एक दो विधायक इस्तीफा दे रहें हैं जिसको देखते हुए कांग्रेस के दोनों उमीदवार का जीतना मुश्किल हैं.