कोरोना के बीच नीतीश सरकार ने किया स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव का किया ट्रां’सफर

174

बिहार में जहाँ एक तरफ सि’यासी मा’हौल बना हुआ है. वही दूसरी तरफ देशभर में कोरोना से हा’ल बे’हाल है. कोरोना मा’मलों में लगातार बढती वृ’द्धि की वजह से स्थिति और ख़राब हो गयी है. जिसके बाद अब बिहार सरकार ने इसी के बीच एक बड़ा फै’सला लिया है. जिसने सभी को चौं’का दिया है. दरअसल हुआ कुछ ऐसा है. जिसके बाद सभी के मैन में एक ही सवाल है. कोरोना का’ल के बीच बिहार सरकार के इतना बड़ा कद’म उठाने के पीछे क्या का’रण थे.

बता दे हुआ यह है कि बिहार सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार को हटा’कर उन्हें पर्यटन विभाग का सचिव बना दिया है और पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव उदस सिंह कुमावत को स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेवा’री सौंप दी है. सरकर ने यह फै’सला तब लिया जब राज्य में कोरोना से संक्र’मित लोगो की संख्या लगातार बढती जा रही है. हा’लाँकि इसके पीछे का का’रण अभी तक स्प’ष्ट नहीं हुआ है.

बिहार सरकार क द्वारा प्रवासी मजदूरों के राज्य में आने के बाद उनको 21 दिनों के लिए क्वा’रंटीन सेंटर में रखा जा रहा है. वही दूसरी तरफ क्वारंटीन सेंटर से भी आए दिन खराब व्यव’स्था की शिका’यतें सामने आ रही है. ऐसी स्थि’ति में सरकार का यह कद’म उठाना सभी के मन में कई सवा’ल पैदा किये हुए है.

वही बिहार में कोरोना संक्र’मित मरीजो की संख्या 1,579 हो गयी है. इसके अलावा बिहार में कोरोना वायरस संक्र’मण से अब तक कुल नौ मरीजों की मौ’त हो चुकी है. जाहिर है प्रदेश में कोरोना का संक्र’मण तेज़ी से फैल रहा है. जिसके लिए सरकार की तरफ से हर सं’भव कोशिशे की जा रही है. लेकिन प्रवासी मजदूरों के राज्य में पहुंचने के बाद ये आं’कड़े और बढ़ते जा रहे है.