क्रिस्चियन मिशेल, दीपक तलवार के बाद अब आतंकी निसार अहमद भारत के हवाले

387
  • अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर ख़रीद मामले में रिश्वतखोरी का आरोपी क्रिश्चियन मिशेल
  • अगस्ता वेस्टलैंड मामले में दलाल दीपक तलवार
  • सीरियाई आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के कई गुर्गे
  • इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी अब्दुल वाहिद सिद्दिबापा
  • 1993 मुंबई ब्लास्ट का आरोपी आतंकी फ़ारूख़ टकला

और इस कड़ी में नया नाम जुड़ा है जैश ए मोहम्मद के आतंकी निसार अहमद का

यह वो लोग हैं जिन्हें पिछले कुछ वक़्त में  UAE से भारत प्रत्यर्पित करके लाया गया है… यह नाम हैं india में वांटेड आतंकियों और भगोड़ो का जिसमें सबसे नया नाम है आतंकी निसार अहमद का,

निसार अहमद तांत्रे जम्मू-कश्मीर के लेथपोरा स्थित सीआरपीएफ कैंप पर दिसंबर 2017 में हमले का मुख्य साज़िशकर्ता है। ये हमला 30-31 दिसंबर 2017 की रात में किया गया था। इस हमले में हमारे पाँच जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। तब जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकियों को भी मार गिराया गया था। आतंकी निसार 1 फरवरी को यूएई फ़रार हो गया था।

31 st march को निसार को UAE ने भारत को सौंप दिया… निसार का भाई नूर तान्तरे भी खूंखार आतंकी था.. नूर तांत्रे को दिसंबर 2017 में हुए एक मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षा बलों ने मार गिराया था।

निसार अहमद 30 और 31 दिसम्बर में हमारे आर्मी कैंप पर हुए हमले का मुख्य साजिशकर्ता था, हमले की जवाबी कार्यवाही में जिन तीन आतंकियों को मार गिराया गया था, उनके नाम हैं- फरदीन अहमद खांडे, मंजूर बाबा और अब्दुल शकूर (रावलकोट, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर)। इसी मामले में जैश का सक्रिय आतंकी अवंतिपुरा निवासी फय्याज अहमद मैग्रे को फरवरी में गिरफ़्तार किया गया था। उसी ने लेथपोरा हमले में शामिल आतंकियों को छिपने का ठिकाना, हथियार और अन्य ख़ुफ़िया जानकारियाँ मुहैया कराई थी।

जानकारी के मुताबिक़ लेश्पोरा हमले के बाद से ही निसार UAE में था.. भारत की कूटनीतिक जीत के चलते  निसार को रविवार को विशेष विमान से दिल्ली लाया गया। उसे एनआईए (राष्ट्रीय जाँच एजेंसी) को सौंप दिया गया है। लेथपोरा हमले की जाँच एनआईए ही कर रही है। एनआईए कोर्ट के स्पेशल जज ने निसार के ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी वॉरंट जारी किया था, जिसके आधार पर उसे यूएई से डिपोर्ट करवाया जा सका। निसार का भाई नूर तांत्रे ने ही घाटी में जैश के पाँव पसारने में मदद की थी।

निसार का प्रत्यर्पण भारत और यूएई के बीच प्रगाढ़ होते संबंधों का भी प्रमाण है। यूएई ने पिछले कई दिनों में कई ऐसे आतंकियों व भगोड़ों को भारत को सौंपा है, जो यहाँ पर वॉन्टेड हैं इनसे ना केवल भारत के खिलाफ साजिश करने वालों पर शिकंजा कसेगा बल्कि भारत के संपूर्ण विश्व के साथ संबंध और भी प्रगाड़ होंगे