नौकरी करने वाले लोगों को मोदी सरकार का बड़ा झ’टका, बजट में हुआ ये ऐ’लान

2183

शनिवार 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश कर दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज मोदी सरकार 2.0 का दूसरा बजट पेश करते हुए निर्मला सीतारमण ने पूर्व वित्त मंत्री और GST के शिल्पकार अरुण जेटली नमन और श्रद्धांजलि देते हुए की. उन्होंने अपने बजट भाषण में कहा कि “मैं वर्ष 2020-21 का बजट पेश कर रही हूं.

जानकारी के लिए बता दें मोदी सरकार ने इस बजट में कई बड़े ऐलान किये. जिसमें उन्होंने किसानों की आय को दोगुनी करने की बात कही है और रेलवे के साथ बनने वाली सड़कों को लेकर ऐलान किये. वहीं मोदी सरकार ने इस बजट में नौकरी करने वालों को बड़ा झटका दे दिया है. अब 80C के तहत म्यूचुअल फंड ELSS, होम लोन, पेंशन फंड, बैंकों में टर्म डिपॉजिट, LIC, PPF, NSC, यूलिप, ट्यूशन फीस, पोस्ट ऑफिस में 5 साल के डिपॉजिट और सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करने से टैक्स छूट का फायदा नहीं मिलेगा.

निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2020-21 पेश किया. इस दौरान उन्होंने टैक्स के नए स्लैब जोड़ने के साथ नया सिस्टम भी शुरू कर दिया है. अब नौकरी करने वाले लोगों को PF कटवाने से भी इनकम टैक्स में बचत नही हो पाएगी. सरकार ने इस बार 5,10,15,20,25 और 30 फीसदी वाले 6 टैक्स स्लैब दिए हैं. इससे पहले 5, 20 और 30 फीसदी के स्लैब थे.

गौरतलब है कि अब आप PF कटवा रहे हैं तो भी आपको 80C के तहत इनकम टैक्स में किसी तरह की राहत नही मिलनी है. अब सरकार ने नई व्यवस्था के तहत टैक्स छूट का फ़ायदा लेन के लिए कई शर्तें लागू कर दी हैं. नए नियम के बाद इनकम टैक्स के सेक्शन 80C, 80D और 24 के तहत मिलने वाली हर तरह की छूट का फ़ायदा खत्म हो जायेगा. 5 लाख रूपये की टैक्सटेबल पर इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना होगा लेकिन आपकी आमदनी 5,00,001 रुपये से 7.5 लाख रुपये है तो आपको 10 फीसदी, 7.5 लाख से 10 लाख पर 15 फीसदी, 10 लाख से 12.5 लाख पर 20 फीसदी, 12.5 से 15 लाख रुपये पर 25 फीसदी और 15 लाख रुपये से ज्‍यादा की आय पर 30 फीसदी टैक्‍स देना होगा.