राष्ट्रपति ने खारिज की निर्भया के दो’षी की दया याचिका

2702

लम्बे समय से निर्भया के दो’षियों के फां’सी पर चढ़ने का इंतज़ार कर रहे देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर है. निर्भया के चार दो’षियों में से एक मुकेश की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दी है. जबकि अन्य तीन दो’षियों की दया याचिका अभी विचाराधीन है. उम्मीद की जा रही है कि इन तीनों की दया याचिका पर भी जल्द ही कोई फैसला आ जाएगा.

इससे पहले कोर्ट ने ये कहते हुए चारों दो’षियों के डे’थ वा’रंट पर स्टे लगा दिया था कि जब तक उनकी दया याचिका राष्ट्रपति के पास है तब तक उन्हें फां’सी पर नहीं चढ़ाया जा सकता. पटियाला हाउस कोर्ट ने पहले डे’थ वारंट जारी करते हुए चारों दो’षियों को 22 जनवरी को फां’सी पर चढाने का आदेश दिया था. लेकिन फिर बाद में डे’थ वा’रंट पर रोक लगा दी.

देश की राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को खौ’फना’क वारदात के बाद निर्भया के चार दो’षियों को फां’सी की सजा सुनाई गई थी. एक दो’षी रामसिंह ने सुनवाई के दौरान ही फां’सी लगा कर आ’त्म’ह’त्या कर ली. जबकि छठा दो’षी नाबालिक था इसलिए उसपर जुवेनाइल जस्टिस के तहत बाल सुधार गृह भेज दिया गया था. जहाँ से निकल कर वो अपनी नई ज़िन्दगी गुज़ार रहा है. बाकी चारो दोषी मुकेश, अक्षय, विनय और पवन की फां’सी का इंतज़ार अब भी देश कर रहा है.