न्याय प्रणाली का बना मज़ाक, फिर टल गई निर्भया के दो’षियों की फां’सी, कोर्ट ने फिर लगाई रोक

2211

भारतीय न्याय प्रणाली का मज़ाक बन गया है. निर्भया के दो’षियों की फां’सी की तारीख टलती जा रही है. आज एक बार फिर पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दो’षियों की फां’सी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी.  सुनवाई के दौरान तिहाड़ जेल ने कोर्ट से कहा है कि चाहें तो तय तारीख को 3 दो’षियों को फां’सी दी जा सकती है. दूसरी तरफ निर्भया की मां की तरफ से पेश वकील ने दलील दी कि दो’षी फां’सी से बचने के हथकंडे अपना रहे हैं.

आज की सुनवाई में विनय की एक याचिका हाई कोर्ट में पेंडिंग होने की दलील दी गई है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को ही पवन गुप्ता की उस पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दी, जिसमें उसने खुद के नाबालिग होने का दावा किया था.

कोर्ट में तिहाड़ जेल की तरफ से इरफान अहमद पेश हुए. उन्होंने कहा कि फिलहाल बस विनय शर्मा की दया याचिका पेंडिंग है. बाकी तीनों को फां’सी हो सकती है. उन्होंने कहा कि इसमें कुछ गैर कानूनी नहीं है. मुकेश की दया याचिका राष्ट्रपति ने खारिज कर दी है और उसके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है. कोर्ट में अक्षय के वकील ने कहा है कि उसके मुवक्किल की क्यूरेटिव पिटिशन खारिज हो चुकी है और वह इस मामले में दया याचिका डालना चाहता है.

अपने बेटी के दो’षियों की फां’सी एक बार फिर तलने से बेहद निराश हो गईं निर्भया की माँ. उनके वकील ने कहा कि दो’षी फां’सी से बचने के लिए सारे हथकंडे अपना रहे हैं. आयर वो इसमें सफल भी हो रहे हैं. अब कोर्ट फां’सी के लिए नई तारीख अगली सुनवाई पर जारी करेगी.