निर्भया मा’मले को 7 साल का समय हो चुका है लेकिन हर बार इस मा’मले में दो’षियों के द्वारा नए नए दां’व पे’च चले जा रहे है. निर्भया के चारो दो’षियों को 20 मार्च को स’जा होनी है लेकिन दो’षी स’जा से बचने के लिए अपनी पूरी को’शिश कर रहे है. पर अब लगता है की उनकी यह सारी को’शिशे बे’कार है. क्यूंकि अब अब निर्भया को इं’साफ मिलने का समय है न की दो’षियों को मा’फ़ करने का.

हुआ यह की दो’षी मुकेश ने एक बार फिर नया दां’व चला था. जिसमे उसे फिर अ’सफलता मिली है. दो’षी मुकेश ने अपनी पहली वकील के खि’लाफ जांच की मांग की थी. जिसमें कोर्ट ने उसे ख़ा’रिज कर दिया है. जिसके बाद दो’षी मुकेश की सारी को’शिशे ना’काम होती जा रही है.

दोषी मुकेश ने अपनी याचिका में में वकील पर आ’रोप लगते हुए लिखा कि वृंदा ग्रोवर ने उसके खि’लाफ सा’जिश रचते हुए उसे धो’खा दिया है. जिसके चलते उसने जां’च की मां’ग की थी. लेकिन जस्टिस मिश्रा ने इसे ख़ा’रिज कर दिया. बता दें नि’र्भया के चारो दो’षियों को 20 मार्च को सुबह 6 बजे फां’सी की स’जा दी जाएगी. जिससे बचने के लिए चारो दो’षियों ने अभी तक अपनी सारी को’शिशे करके देख ली. लेकिन उनकी सारी को’शिशे ना’काम हो गयी.

वही 7 साल के लंबे इंतजार ले बाद निर्भया को इं’साफ मिलेगा और उसके साथ साथ देश की हर उस बेटी को भी इंसा’फ मिलेगा जिनके साथ बला’त्कार जैसी दरिं’दगी की गयी. इस मा’मले में न सिर्फ निर्भया और उसकी माँ की जी’त होगी बल्कि देश की हर बेटी की जी’त होगी. गौरतलब है. निर्भया की माँ का सं’घर्ष 7 साल के लंबे इंतजार के बाद 20 मार्च को दो’षियों को स’जा मिलने के बाद ख’त्म हो जायेगा.