कोरोना की दूसरी लहर ने बढाई धड़कन, बिहार में की गई सख्ती, प्रवासियों से सीएम नीतीश की अपील

कोरोना की दूसरी लहर ने शहर शहर कोहराम मचा रखा है. स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई है. दिल्ली-मुंबई जैसे विकसित शहरों और पटना-मुजफ्फरपुर जैसे छोटे शहरों का फर्क मिट गया है. हर तरफ एक ही दृश्य है, अस्पतालों में बेड के लिए मारामारी और कहीं ऑक्सीजन तो कहीं इंजेक्शन के लिए भटकते लोग. महाराष्ट्र और दिल्ली की हालत तो सबसे खराब है ही. अब बिहार में भी तेजी से कोरोना केस बढ़ने लगे हैं. बीते 24 घंटों में वहां 8690 केस सामने आये जिसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कुछ सख्तियो का ऐलान किया.

सीएम नीतीश कुमार ने रविवार को सभी जिलाधिकारियों के साथ बैठक की. उसके बाद उन्होंने ऐलान किया कि हेल्थ वर्कर्स को एक महीने का अतिरिक्त वेतन दिया जायेगा. साथ ही उन्होंने स्कूल-कॉलेजों और धार्मिक स्थानों को 15 मई तक बंद करने का निर्देश दिया. सिनेमा हॉल, जिम और पार्क भी 15 मई तक बंद रहेंगे. रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा. सरकारी कार्यालयों में शाम 5 बजे छुट्टी हो जाएगी.

सीएम ने ऐलान किया कि 15 मई तक बिहार में कोई परीक्षा नहीं होगी. केवल 33 फीसदी कर्मचारी ही दफ्तर में आयेंगे. राशन दुकान, फल-सब्जी मंडी, मांस-मछली दुकान, कपड़ा दुकान शाम छह बजे बंद हो जाएंगे. रेस्टोरेंट, ढाबा में बैठकर खाना बैन, होम डिलिवरी चालू रहेगी. होम डिलिवरी भी रात 9 बजे तक ही डिलिवरी कर सकेंगे. सीएम ने बिहार के बाहर बसे अपने लोगों से अपील की है कि वे जल्द से जल्द अपने राज्य में लौट आएं.

Related Articles