कोरोना संकट के दौरान देश का सबसे बड़ा सर्वे आ गया, इतने प्रतिशत लोगों को पीएम मोदी पर भरोसा

6800

बीते दिनों एक अमेरिकी संस्था ने सर्वे किया था, जिसमे पीएम मोदी वर्ल्ड लीडर पर तौर पर उभरे थे और दुनिया के सबसे प्रभावशाली नेता की रैंकिंग में नंबर वन पर रहे. अब एक नया सर्वे आया है जिसमे कोरोना के कारण लॉकडाउन की स्थिति से गुजर रहे भारत में पीएम मोदी सबसे विश्वसनीय नेता के तौर पर भरे हैं. मतलब ये कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत कोरोना संकट से निकल जाएगा.

लॉकडाउन के दौरान जिस तरह से पीएम मोदी की अपील पर लोगों ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाया, कोरोना वारियर्स की हौसला अफजाई के लिए ताली, थाली और शंख बजाये, दिए जलाए, उसे देख ये तो पता चल गया था कि देश की जनता पीएम मोदी की बातों और अपीलों को कितनी गंभीरता से लेती है. अब सर्वे भी इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि पीएम मोदी पर देश की जनता का भरोसा अडिग है.

हाल ही में एक सर्वे किया गया जिसके अनुसार 93.5% भारतीयों को यकीन है कि मोदी सरकार कोरोना संकट से बहुत असरदार तरीके से निपट रही है. इस सर्वे को IANS-C voter कोविड-19 ट्रैकर द्वारा किया गया. लॉकडाउन के पहले दिन 76.8% लोग मोदी सरकार पर भरोसा कर रहे थे. 31 मार्च को 79.4% लोगों को ही सरकार के कामकाज पर यकीन था. लेकिन 1 अप्रैल को ये आंकड़ा 10 फीसदी तक बढ़ गया. 1 अप्रैल 1 अप्रैल तक मोदी सरकार पर भरोसा करने वालों का प्रतिशत बढ़कर 89.9 हो गया. 21 अप्रैल तक ये आंकड़ा बढ़ कर 93.5% तक बढ़ गया. इसका मतलब ये है कि देश की 93.5 फीसदी जनता ये मानती है कि मोदी सरकार अच्छा काम कर रही है और वो देश को सफलता पुर्वक्क कोरोना संकट से निकाल सकती है.

ये सर्वे आईएएनएस-सीवोटर द्वारा 16 मार्च से 21 अप्रैल के के बीच किया गया और लोगों से सवाल पूछा गया कि कोरोना से निपटने के लिए मोदी सरकार कैसा काम कर रही है? इसपर लोगों ने जिस तरह से पीएम मोदी पर भरोसा जताया उससे ये बात भी पुख्ता हो गई कि इस वक़्त मोदी के टक्कर का कोई नहीं है देश में.