संयुक्त किसान मोर्चा का नया ऐलान : घरों और कार्यालयों पर काले झंडे लहराए जाएंगे, प्रदर्शनकारियों को काली पट्टी बांधने के लिए भी किया आह्वान…

संयुक्त किसान मोर्चा ने सिंघु बॉर्डर पर एक बैठक की. इस बैठक में किसानों ने आंदोलन से जुड़े कई अहम फैसले लिए और आगे की रणनीति तय की. 6 मार्च 2021 को दिल्ली बोर्डर पर विरोध प्रदर्शन शुरू होने के 100 दिन हो जाएंगे. इस दिन दिल्ली और दिल्ली बोर्डर्स के विभिन्न विरोध स्थलों को जोड़ने वाले केएमपी एक्सप्रेसवे पर पांच घंटे की नाकाबंदी होगी ये सुबह 11 से शाम 4 बजे के बीच जाम किया जाएगा. यहां टोल प्लाजा को टोल फीस जमा करने से भी मुक्त किया जाएगा.किसान मोर्चा ने बताया कि देशभर में आंदोलन को समर्थन के लिए और सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए घरों और कार्यालयों पर काले झंडे लहराए जाएंगे. संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों को उस दिन काली पट्टी बांधने के लिए भी आह्वान किया है.

संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने बताया कि जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं, वहां भी संयुक्त मोर्चा के सदस्य जाएंगे और भाजपा का विरोध करेंगे. संयुक्त किसान मोर्चा नेताओं ने स्पष्ट किया कि वे किसी दूसरी पार्टी को वोट देने नहीं कहेंगे, वे केवल भाजपा के विरोध की अपील करेंगे. इसकी शुरुआत कोलकाता से होगी.12 मार्च को कोलकाता में एक किसान रैली आयोजित की जा रही है, जिसमें मोर्चा के वरिष्ठ सदस्य जाएंगे. उसी दिन मोर्चा की ओर से पश्चिम बंगाल के सभी 294 विस क्षेत्रों के लिए एक-एक वैन भी रवाना होगी, जो इस अपील को लेकर वहां के वोटरों के बीच जाएगी. इसी तरह चुनाव वाले दूसरे प्रदेशों में भी मोर्चा के सदस्य जाएंगे.

इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आठ मार्च को धरनास्थलों की कमान महिलाओं के हाथों में होगी. मोर्चा के सदस्यों ने दोहराया कि अगर सरकार नया प्रस्ताव देगी, तो वे वार्ता के लिए अवश्य जाएंगे.देश भर के सभी सयुंक्त किसान मोर्चे के धरना स्थल पर 8 मार्च को महिलाओं द्वारा संचालित होंगे. इस दिन महिलाएं ही मंच प्रबंधन करेंगी और वक्ता होंगी.

Related Articles