NDTV का नया कारनामा, अजीत पवार पर बनायी ऐसी हेडलाइन कि लोगों ने कर दिया ट्रोल

1440

एनडीटीवी से तो आप भलीभाँती परिचित हैं. निष्पक्ष न्यूज चैनल होने का दावा करने वाला एनडीटीवी कब प्रोपगैंडा पोर्टल बना कर अपना एजेंडा चलाने लगा पता ही नहीं चला. आ’तंक’वादियों को एक्टिविस्ट कहने के लिए प्रसिद्ध एनडीटीवी ने अब नया कारनामा किया है. ये नया कारनामा किया गया है अजीत पवार के साथ. जैसे जैसे अजित पवार का पॉलिटिकल स्टेटस बदलते गया वैसे वैसे एनडीटीवी के लिए कभी भ्रष्ट तो कभी पाक साफ़ बन गए. यूँ कहिये कि एनडीटीवी अजीत पवार कि स्टोरी इस आधार पर करता है कि वो भाजपा के साथ हैं या भाजपा के खिलाफ.

पिछले महीने 23 नवम्बर को अजीत पवार ने भाजपा के साथ मिलकर फडनवीस सरकार में उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली. जैसे ही अजीत पवार भाजपा के साथ गए वैसे ही वो एनडीटीवी के लिए “स्कैम टेन्टेड” यानी कि “दागी” बन गए. एनडीटीवी ने स्टोरी लगाई “महाराष्ट्र के दागी नेता अजीत पवार कि उपमुख्यमंत्री के तौर पर वापसी”.

तीन दिनों बाद अजीत पवार ने इस्तीफ़ा दे दिया और एक महीने बाद वो उद्धव सरकार में फिर से उपमुख्यमंत्री बन गए. तो भाजपा से दूर जाते ही एनडीटीवी के अजीत पवार एनसीपी लीडर बन गए. इस बार एनडीटीवी ने हेडलाइन बनायी- अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. इस बार एनडीटीवी के हेडलाइन से “स्कैम टेन्टेड” शब्द गायब था.

वैसे एनडीटीवी का एजेंडा पहली बार नहीं चला है. इसने एक बार ISIS के आतं’कियों को एक्टिविस्ट कह दिया था. हिज्ब-उल-मुजाहिद्दीन के आतं’कियों को वर्कर यानी कर्मचारी कह दिया था. और कुछ चले न चले लेकिन एनडीटीवी का एजेंडा चलना चाहिए. सोशल मीडिया पर लोग एनडीटीवी को जमकर ट्रोल करने लगे.