कांग्रेस नेता राहुल गाँधी की पीएम मोदी को लेकर दिए गये बयान के चलते मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. एक के बाद एक करके बीजेपी नेता उन्हें निशाने पर ले रहे हैं. दरअसल राहुल गाँधी ने अभी हाल ही में हौज रानी में एक जनसभा को संबोधित किया था. जिसके चलते राहुल गाँधी बुरे फंस गये हैं, अब उन्हें लगातार लोगों की खरी खोटी सुननी पड़ रही है.

जानकारी के लिए बता दें राहुल गाँधी ने आपत्तिजनक बयान देते हुए कहा कि ‘ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहा है, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएगा. हिंदुस्तान के युवा इसको ऐसा डंडा मारेंगे, इसको समझा देंगे कि हिंदुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता.’ अब उनके इस बयान को लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने तंज कसा है.

नकवी ने कहा है कि सोनिया गाँधी को अपने 49 वर्षीय पुत्र को राजनीतिक प्लेस्कूल भेजना चाहिए ताकि वह शालीनता और भाषा के संस्कार सीख सकें. इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद राहुल गाँधी के इस बयान का जवाब संसद में सत्र के दौरान दिया था. पीएम मोदी ने कहा था कि वह इसके लिए तैयार हैं और अपनी पीठ के लिए मजबूत कर लेंगे.

नकवी ने अपने बयान में कहा है कि “कांग्रेस के नेता अपने हाथ में कुल्हाड़ी लेकर घूमते हैं और मौका मिलते ही इसे अपने ही पैर पर दे मारते हैं. मुझे कांग्रेस के लोगों, खासतौर से सोनिया गांधी को सलाह देनी है कि वह अपने पप्पूजी को किसी राजनीतिक प्लेस्कूल में भेजें ताकि वह सियासत की एबीसीडी, गरिमा, शालीनता और भाषा के संस्कार सीख सकें.”