कोरोना वायरस पर बोलते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने तब’लीगी जमा’त को लेकर कही ये बड़ी बात

453

देश के अंदर कोरोना महा’मारी ने हा’हाकार मचा रखा हैं. देश में कोरोना को बढ़ाने का काम तबली’गी जमा’त के लोगों ने किया हैं. आज कोरोना से मौ’तों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है और मरीजो का भी आंकड़ा बहुत तेज़ी से बहद रहा हैं देश के अंदर. फर्क इतना है की हमारी केंद्र सरकार ने वक़्त रहते है देश में लॉकडाउन कर दिया जिससे बहुत हद्द तक कण्ट्रोल हुआ है. लेकिन लगता तो ऐसा है कि कहीं न कही तबली’गी ज’मात की सोच ये थी की देश के अंदर जितना ज्यादा हो सके कोरोना को फैला दो.

तबली’गी जमा’त को लेकर केंद्र सरकार के कई मंत्री भी पहले उस पर ये आ’रोप लगा चुके हैं और एक बार फिर से केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने  कहा कि ‘तबली’गी जमा’त का मामला सामने न आता तो कोरोना के लिए लॉकडाउन को तीसरे चरण में बढ़ाने की जरूरत ही नहीं पड़ती.’

तबली’गी जमा’त को लेकर नकवी ने आगे बताया कि ‘किसी एक संस्था या किसी एक व्यक्ति के गुनाह के लिए पूरे समुदाय को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. उस संस्था ने जो भी आ’परा’धिक लापरवाही या अपरा’ध किया, उसकी ज्यादातर मुसलमानों ने खुलकर निं’दा की और कार्रवा’ई करने की मांग की है. इसलिए किसी एक संस्था के गु’नाह को पूरे कौ’म के गु’नाह के रूप में नहीं देख सकते.’

नकवी ने कहा कि आज पूरा देश कोरोना जैसी बिमारी से झुज रहा हैं. देश में कोरोना जैसी बीमारी में देश के सभी लोग एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहें हैं. लेकिन कुछ लोग हैं जो कोरोना पर भी राजनीति करने से बाज नहीं आ रहें हैं. बहुत शर्म की बात है. नकवी ने कहा की ‘हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब हाथ जोड़कर मुल्क के नागरिकों से अपील की थी तो सभी 130 करोड़ लोग उसमें शामिल हैं. यह अपील ध’र्म और जा’ति पर आ’धारित नहीं थी. उनकी अपील को सभी ने स्वीकार किया और उस पर पूरी तरह अमल भी किया.’