‘इस्‍लामोफोबिया’ को लेकर नकवी ने मुस्लिमों से की ये बड़ी अपील

684

भारत देश एक ऐसा देश है जहां पर सभी धर्म के लोग बहुत प्यार, मोहब्बत से रहते है. लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि भारत में मुस्लिम समाज को दबा कर रखा जाता है. जो कि ये सरासर गलत है ऐसा कुछ भी नही होता है भारत में. आ’रोप ये भी लगता है कि भारत में मुसलमानों के प्रति ठीक व्‍यवहार नही किया जाता है.  

भारत के अंदर मुसलमानों पर इस आ’रोप को खारिज करते हुए केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने जवाब दिया है. उन्‍होंने कहा है कि ‘भारत मुसलमानों के लिए जन्‍नत है और जो लोग इस माहौल को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, वो भारतीय मुसलमानों के दोस्‍त नहीं हो सकते.’ नकवी ने दरअसल ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्‍लामिक कोऑपरेशन (OIC) को भारत की ओर से जवाब दिया. दो दिन पहले, OIC ने भारत में ‘इस्‍लामोफोबिया’ के कथित मामलों पर चिंता जताई थी. जिस पर भारत की तरफ से जवाब दिया गया है.

OIC ने कहा था कि भारत अपने मुस्लिम समुदाय के अधिकारी की रक्षा के लिए ‘फौरन कदम उठाए’ और देश में ‘इस्‍लामोफोबिया’ के मामलों को रोके. इस पर नकवी ने कहा कि “हम अपना काम पूरी लगन से कर रहे हैं. हमारे प्रधानमंत्री मोदी जब भी बोलते हैं, वे 130 करोड़ भारतीयों के अधिकारों और हितों की बात करते हैं. अगर कोई ये नहीं देख सकता तो ये उसकी समस्‍या है औह 130 करोड़ की जनता में हम सब लोग आते है फिर चाहे वो मुस्लिम हो, हिन्दू हो या किसी भी जाति धर्म का है.

नकवी ने आगे कहा कि भारत के मुसलमान, अल्‍पसंख्‍यक, इसके सभी तबके समृद्ध हैं. नकवी ने कहा कि “सेक्‍युलरिज्‍म और सद्भावना कोई पॉलिटिकल फैशन नहीं है, बल्कि भारत और भारतीयों के लिए तो ये परफेक्‍ट फैशन है.

भारत में मुसलमान पर लगाये गए आरोप पूरी तरह से गलत है. भारत ही एक ऐसा देश है. जहां पर मुसलमान अपने आपको पूरी तरह से सुरक्षित महसूस करता है. रही बात दूसरे देश की जो भारत पर दोषारोपण कर रहे है. उनको बता देना चाहता हूं कि वो अपने देश का ध्यान दे भारत के मामले में दखलंदाजी न करे.