चले थे कश्मीर लेने और बात मुजफ्फराबाद पर आ गई

1853

प्रधानमंत्री के स्पष्ट फैसलों से अब इमरान खान पस्त होते नज़र आ रहें हैं. अभी तक उन्हें सभी ओर से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा था लेकिन अब उन्हें..उनके मुल्क पाकिस्तान के नागरिको ने भी दुत्कारना शुरू कर दिया है. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन ने तो यह तक कह दिया है की ,’इमरान सरकार सोती रही है और कश्मीर हमारे साथ से निकल गया.’ तो कश्मीर के हाथ से जाने का दोषी उनका मुल्क उन्हें ही ठहरा रहा है .

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो इमरान खान सरकार को दुत्कारते नज़र आये. पाकिस्तान इन दिनों बौखलाया हुआ है क्योकि उन्हें अब कश्मीर जाने की चिंता नही बल्कि POK हाथ से जाने का डर सता रहा है इसपर बिलावल भुट्टो ने मंगलवार को कहा कि ‘पहले हम कश्मीर की बात करते थे, अब हम योजना बना रहे हैं कि मुजफ्फराबाद को कैसे बचाया जाए.’ तो क्या अब पाकिस्तान की आम आवाम भी डरने लगी है ? और इस दैहशत का सामना किसी और को नही इमरान खान और उनकी सरकार को करना पड़ रहा है .

 पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो ने यह भी कहा कि ‘इमरान सरकार सोती रही है और कश्मीर हमारे साथ से निकल गया..हम योजना बना रहे हैं कि मुजफ्फराबाद को कैसे बचाया जाए’. ऐसा इसलिए क्योकि पाक पीएम का दरअसल दिमाग अपने मुल्क की ओर नही है बल्कि आतंकियो को पनाह देने मे है . वह अपने मुल्क की हालत छोड़कर चाय बिस्खकुट पर रोक लगा रहें है जिसके कारण उन्हें अपने ही देशवासियो से सुनना पड़ रहा है .इमरान खान पर गुस्सा खाते हुए बिलावल ने यह भी कहा, “कश्मीर पर पहले हमारी पॉलिसी क्या होती थी, पहले हमारी पॉलिसी होती थी कि श्रीनगर कैसे लेंगे?” अफ़सोस, श्रीनगर तो पाकिस्तान ले ना सका और कश्मीर भी चला गया . दिन पर दिन पाकिस्तान की हालत पस्त होती नज़र आ रही है वो आर्थिक मंदी से तो झुझ ही रहें थे और अब खबरों मे तो यह भी आ गया है की पाकिस्तान बॉर्डर पर आर्मी तैनात है भारत के साथ एक युद्ध के लिए लेकिन शायद वो युद्ध नही POK को बचाने की तैयारी कर रहें है . पाकिस्तान की बर्बादी का ज़िम्मेदार सिर्फ और सिर्फ इमरान खान को बताया जा रहा क्योकि वहा की जनता का कहना है उनके पीएम की नाकामी और इनके लालच की वजह से आज पाकिस्तान के यह हालत है .