वि’पक्षी सां’सदों के व्य’व’हार से दु’खी हरिवंश ने स’भापति को लिखा पत्र, पीएम मोदी ने पत्र शे’यर कर देशवासियों से की ये ख़ा’स अ’पील

75

बिहार में जहां एक तरफ विधनासभा चुनावो ने अपनी र’फ़्तार पकड़ ली है. वही दूसरी तरफ पीएम मोदी द्वारा भी लगातार बिहार को कई सौ’गाते दी जा रही है. इतना ही नहीं CM नीतीश कुमार ने भी बिहार के लिय कई सौ’गाते दी है और अभी भी ये सि’लसि’ला चालू है. वही दूसरी तरफ कृषि बिल पर चर्चा को लेकर संसद में हं’गा’मा और ब’त’मी’जी करने वाले सांसदों को राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने नि’लं’बि’त कर दिया हैं.

हालाँकि कृषि विधे’यकों के पा’रित होने के दौरान सदन में हुए व्यव’हार के खि’लाफ राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश 24 घंटों के लिए मंगलवार से उ’पवास पर हैं. जिसकी जानकारी उन्होंने राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को पत्र लिख कर दे दी है. साथ ही उन्होंने ये भी लिखा है कि राज्यसभा में जो भी हुआ, उससे वे पी’ड़ा और तना’व में हैं. जिसकी वजह से वो रात भर सो भी नहीं पाए. साथ ही उन्होंने ये भी लिखा कि “22 सितंबर सुबह से कल 23 सितंबर सुबह तक, चौबीस घंटे का उप’वास मैं कर रहा हूं. काम’काज की गति ना रुके, इसलिए उप’वास के दौरान भी राज्यसभा के काम’काज में निय’मित व सा’मान्य रूप से हि’स्सा लूंगा.”

जिसके बाद उपसभापति हरिवंश के तीन पन्नों के पत्र को पीएम मोदी ने सोशल मीडिया पर शे’यर करते हुए ट्वी’ट किया कि “माननीय राष्ट्रपति जी को माननीय हरिवंश जी ने जो पत्र लिखा, उसे मैंने पढ़ा. पत्र के एक-एक श’ब्द ने लोक’तंत्र के प्रति हमारी आ’स्था को नया वि’श्वास दिया है. यह पत्र प्रे’रक भी है और प्रशं’स’नीय भी. इसमें स’च्चाई भी है और संवे’द’नाएं भी. मेरा आ’ग्रह है, सभी देशवा’सी इसे जरूर पढ़ें.” जाहिर है 20 सितम्बर को कृषि बिल पर च’र्चा को लेकर संस’द जो हंगा’मा हुआ. उससे न सिर्फ संसद का वल्कि संसद की कार्य प्रणा’ली का भी अप’मान हुआ है. जिसे नजरअं’दाज नहीं किया जा सकता है.