राज्यसभा से पास हुआ मोटर व्हीकल बिल, समझ लीजिये वरना देना पड़ेगा हजारों का जुर्माना!

2402

भारत ऐसा देश है जहाँ कानून को लोग ताक पर रखना फैशन मानते हैं. सड़क और गाडी चलाने के लिए बनाये गये नियम तो खूब तोड़े जाते रहे हैं. नाबालिग गाडी चलाते दिख जाते हैं, रेड लाइट जम्प करती तमाम गाड़ियाँ आपको सिग्नल पर दिख जाती है, बिना लाइसेंस के गाडी चलाते लोग मिल जायेंगे, शराब पीकर गाडी चलाने वाले लोगों की भी कमी नही है लेकिन अब ऐसा करना आपके लिए आर्थिक हानिकारक हो सकता है. सरकार की तरफ से नया मोटर व्हीकल नियम लागू होने ही वाला है. अभी से इसे समझ लीजिये और नोट करके अपनी गाड़ी में चिपका लीजिये और समझ जाइए कि अब आपको नियम तोड़ने पर बहुत बड़ा जुर्माना देना पड़ सकता है.

राज्यसभा से मोटर व्हीकल संशोधन बिल वोटिंग के बाद पास कर दिया गया है. बिल के पक्ष में 108 और विपक्ष में 13 वोट पड़े हैं. यह बिल लोकसभा से पहले ही पारित हो चुका है. यहाँ आपको बता दें कि विधेयक को 23 जुलाई को लोकसभा में पारित किया गया था. हालांकि, कुछ संसोधन के बाद अब ये फिर से लोकसभा में जाएगा.  बिल में मोटर व्हीकल एक्ट को और सख्त बनाने के प्रावधान शामिल हैं. इसके अलावा ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ज्यादा जुर्माना लगाने के प्रावधान इस बिल में शामिल हैं. आइये हम आपको बताते हैं कि नए नियम के लागू होने के बाद अगर आप कानून तोड़ते है तो आपके किस तरह अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है.

1.नाबालिग बच्चे अक्सर गाड़ी चलाते हुए सड़कों पर दिख जाते हैं, जबकि अठारह साल से कम बच्चों के गाडी चलाने पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध है, लेकिन अब बच्चों के गाडी चलाने पर बच्चों के साथ साथ गाडी के मालिक पर कड़ी कार्रवाई होगी. वाहन मालिक को 25 हजार रुपए का जुर्माना और तीन साल की सजा होगी और नाबालिग को  25 साल की उम्र होने तक लाइसेंस नहीं मिलेगा. वाहन का रजिस्ट्रेशन रद्द होगा. नाबालिग के खिलाफ किशोर न्याय एक्ट 2000 के तहत मुकदमा चलेगा. इसके साथ यदि बच्चा 4 साल से अधिक उम्र का है तो उसे भी हेलमेट पहनना अनिवार्य हो गया है. यहाँ ध्यान दीजिये कि अब नियम तोड़ने पर जुर्माना 5 फीसदी से लेकर 30 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है.

2. अगर आप नशे में गाडी चला रहे  है मतलब ड्रंक एंड ड्राइव करते हुए पकडे जाते है तो उसके लिए आपको 10 हजार रूपये चुकाने होंगे साथ ही साथ जेल की भी हवा खानी पड़ सकती है.

3. हिट एंड रन.. ऐसे केस में यदि पीड़ित घायल है तो आरोपी वाहन चालक पर 12500 और पीड़ित की मौत होने पर 25 हजार रुपये का जुर्माना होता है. नए एक्ट में यह राशि पचास हजार और दो लाख रुपये रखी गई है. सिर्फ पिछले साल ही देश में 55 हजार हिट एंड रन के मामले सामने आये थे जिसमें से 22 हजार से अधिक लोगों की जान चली गयी थी.

4. सीट बेल्ट न लगाने और हेलमेट ना पहनने पर पहले जुर्माना सिर्फ 100 रूपये था अब जुर्माना बढ़कर 1000 हो गया है.

5. अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ लोग हाईवे पर रसिंग करते हुए देखे जा सकते हैं तो अब इनकी भी खैर नही है. रेसिंग करने वालों पर पहले 500 रूपये जुर्माना लगता था अब इसे बढाकर पांच हजार कर दिया गया है.

6. बिना  इंश्योरेंश की गाड़ी पर मौजूदा एक्ट में एक हजार रुपये जुर्माना लगता है लेकिन नए एक्ट में दो हजार के जुर्माने का प्रावधान है.

7. ओवर स्पीड को लेकर अभी चार सौ रूपये का जुर्माना था लेकिन अब दो हजार से लेकर ४ हजार तक के जुर्माने हो सकता है.

8. खतरनाक तरीके से ड्राइविंग करने पर अभी तक एक हजार रूपये वसूले जाते थे लेकिन अब नए नियम के मुताबिक़ अब 5 हजार रूपये जुर्माना लगाया जा सकता है.

9. बिना ड्राइविंग लाइसेंस के गाडी चलाने पर अभी पांच सौ रुपये है और नए एक्ट में पांच हजार वसूले जायेंगे. अगर अयोग्य ठहराने के बाद भी ड्राइविंग करते पकड़े गए तो दस हजार रुपये का चालान होगा, जबकि अभी यह राशि पांच सौ रुपये है.

10. अभी तक हमारे यहाँ ऐसा कोई प्रावधान नही था कि अगर गाडी की गलत बनावट की वजह से, या गाडी की कम्पनी की वजह से कोई हादसा होता है तो उनपर कार्रवाई हो लेकिन अब नए एक्ट में इस बात भी ध्यान दिया गया कि .यदि सुरक्षा के मापदंड पूरे नहीं होते हैं तो डीलर पर एक लाख और निर्माता पर सौ करोड़ रुपये तक का जुर्माना हो सकता है.

बिल पेश करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि अब मोबाइल फोन के जरिए टोल दिया जा सकेगा, साथ ही फास्ट टैग की लगाया जाएगा, किसी को टोल पर रुकना नहीं पड़ेगा. इस सुविधा को केंद्र बगैर कोई पैसा लिए राज्यों को देने के लिए तैयार है. इसके अलावा नितिन गडकरी ने बताया कि ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता की अवधि बधाई जाएगी और घर पर ही लर्निंग लाइसेंस मिल सकेगा.

वैसे भी मेर ख़ास मकसद ये बताना था कि आगे से गाड़ी चलाते वक्त ध्यान देना शुरू कर दीजिये वरना अच्छा खासा जेब ढीली हो ही जाएगी और हाँ अब पुलिस वाले 100 रूपये की एक हरी पत्ती से नही मानेंगे, अब उनका भी रेट बढ़ ही जायेगा.