मोहम्मद कैफ ने ‘सचिन तेंदुलकर’ को कहा अपना “भगवान” तो भड़क गए कट्टरपंथी

2262

बात करें क्रिकेट कि तो लोग क्रिकेट में भी राजनीति करते नजर आ रहा है. पूर्व भारतीय क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रहे मोहम्मद कैफ ने क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के साथ ट्विटर पर एक फोटो पोस्ट किया है. जिसमे मोहम्मद कैफ ने इस फोटो में खुद को “सुदामा और सचिन” को ‘भगवान कृष्ण’ बताया है. मोहम्मद कैफ ने जो फोटो शेयर की है, उसमे कैप्शन में लिखा, “भगवान कृष्ण के साथ मेरा सुदामा पल.” यहां पर भगवान शब्द का प्रयोग सचिन तेंदुलकर के लिए किया गया है और सुदामा शब्द का प्रयोग खुद मोहम्मद कैफ ने अपने लिए किया है. इसको लेकर कुछ तथाकथित लोगो ने इस पर भी दिन्दू- मुस्लिम करना शुरु कर दिया है.

हालाँकि मोहम्मद कैफ ने सचिन के साथ अपनी जो तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर कग है.उसको लेकर सकारात्मक प्रतिक्रियाएँ आने के साथ उनको गालियाँ पड़नी भी शुरू हो गई हैं. मोहम्मद उमर लतीफ नाम के यूजर ने लिखा, “शर्म करो कैफ, मुस्लिम हो इस तरह कहने से पहले तुम्हें सोचना चाहिए खान नाम के एक यूजर ने लिखा, “अल्लाह तुमको हिदायत दे।”

फार्रूख खान नाम के एक यूजर ने अपने ट्वीटर पर लिखा, “अल्लाह तुमको हिदायत दे.” एक शक्स ने तो उन्हें संघी तक करार दे दिया और कहा कि कैफ आपसे या उम्मीद नही थी. आगे कहा कि आपसे उम्मीद थी कि आप भगवा के खिलाफ लड़ेगें, लेकिन तुम तो संघी निकले. एक बार फिर से भारत में हिन्दू- मुस्लिम होना शुरु हो गाया है और कुछ मुस्लिम लोगों के पेट में दर्द होने लगा है कैफ के इस ट्वीट से.मुस्लिम कट्टरपंथियों की तरफ से उनके खिलाफ फतवा जारी हो सकता है। एक ने लिखा कि फतवा जारी होने वाला है कैफू भाई.

उन्होंने अंडर-19 स्तर पर अपने प्रदर्शन के बल पर राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई, जहाँ उन्होंने 2000 में अंडर-19 विश्व कप में जीत के लिए भारत की राष्ट्रीय अंडर-19 टीम की भी कप्तानी की है. बात करे मोहम्मद कैफ की तो उन्होंने 13 जुलाई 2002 को नैटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ एक रोमांचक मैच में विजयी पारी खेली थी और भारत की सीरीज जीत में अहम भूमिका निभाई थी. कैफ के नाम 125 वनडे में 2753 रन दर्ज हैं. वहीं, टेस्ट मैचों की 13 पारियों में उन्होंने 324 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतक शामिल हैं जो वेस्टइंडीस के खिलाफ लगाया था.

साथ ही विश्व कप के किसी एक मैच में एक फील्डर द्वारा सर्वाधिक कैच लेने का रिकॉर्ड भी उनके ही नाम है जो उन्होंने 10 मार्च 2003 को जोहान्सबर्ग में श्रीलंका के खिलाफ लिए थे. उन्होने 13 जुलाई 2018 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया था.